विज्ञापन

‘रोहित और जयवर्धने के मुंह पर पड़ा करारा तमाचा’ इस बड़ी गलती की वजह से फैंस ने लगाई फटकार, जानकर सब होंगे दुखी

रोहित शर्मा आईपीएल के सबसे सफल कप्तान है, इस वजह से वो मुंबई इंडियंस को सबसे अधिक 5 बार विजेता बना चुके हैं। लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग का मौजूदा सीजन एमआई के लिए कुछ अच्छा नहीं रहा है, क्योंकि इस साल आईपीएल में मुंबई को लगातार 8 मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा है।

रोहित शर्मा और महेला जयवर्धने
विज्ञापन

मुंबई इंडियंस की टीम आईपीएल के 15वें सीजन में 9 मैच खेल चुकी हैं, जिसमे से उन्हें एक मैच के दौरान जीत हासिल हुआ है। एमआई की टीम अपना पिछला मुकाबला राजस्थान रॉयल्स के विरुद्ध खेली थी, जिसमे उन्हें 5 विकेट से जीत प्राप्त हुआ था। लेकिन उसके बाद मुंबई इंडियंस के समर्थकों ने टीम के कप्तान रोहित शर्मा और हेड कोच महेला जयवर्धने को ट्रोल करना शुरू कर दिया।

रोहित और जयवर्धने से फैंस हुए नाराज

आईपीएल 2022 का 44वां मुकाबला मुंबई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स के बीच डी वाई पाटिल स्टेडियम में खेला गया। जिसमे रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया, उसके बाद आरआर की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 158 रनों का स्कोर खड़ा किया। उसके बाद मुंबई इंडियंस 4 गेंद शेष रहते हुए 5 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

विज्ञापन

मुंबई इंडियंस की तरफ से सूर्यकुमार यादव तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 51 रनों की सबसे बड़ी पारी खेली। उसके बाद तिलक वर्मा ने भी 35 रन बनाए। लेकिन फिर भी वह मुकाबला एक समय फंसती नजर आ रही थी, उस दौरान टिम डेविड ने विस्फोटक पारी खेली। इस के लिए उन्होंने मात्र 9 गेंदों का सामना करते हुए 2 चौके और एक छक्के की मदद से 20 रनों की नॉट आउट पारी खेली। उसके बाद मुंबई इंडियंस के समर्थक टीम के कप्तान रोहित शर्मा और हेड कोच महेला जयवर्धने को खूब ट्रोल करते नजर आए।

मुंबई इंडियंस के फैंस का कहना है कि रोहित शर्मा और महेला जयवर्धने ने टिम डेविड को अधिक मौके नहीं दिए। इस साल आईपीएल में डेविड को शुरुआती दो मैचों के दौरान मौका दिया गया था, उसके बाद 6 मुकाबलों में उन्हें बेंच बैठना पड़ा। लेकिन जब राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ उन्हें मौका मिला तो डेविड ने विस्फोटक पारी खेलकर सबका दिल जीत लिया। इसी वजह से एमआई के समर्थक इन दिनों रोहित और जयवर्धने से नाराज है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.