वनडे वर्ल्ड कप के बाद अब T20 वर्ल्ड कप से भी इन भारतीय खिलाड़ी के कट सकते हैं पत्ते! अपना ही साथी खिलाड़ी बना संकट।

T20 World Cup: आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप समाप्त होने के बाद अब भारतीय टीम का अगला मिशन T20 वर्ल्ड कप पर है। T20 वर्ल्ड कप से पहले भारतीय टीम को कई T20 सीरीज खेलने हैं। टीम इंडिया के होनहार गेंदबाज रवि बिश्नोई ने शानदार प्रदर्शन दिखाया है। ऐसे में आगामी वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के चयनकर्ता रवि बिश्नोई को टीम में शामिल कर सकते हैं। जबकि उनके दोस्त यजुवेंद्र चहल का करियर खतरे में पड़ा हुआ है।

अपने ही साथी खिलाड़ी से खतरा है चहल को

बता दे की भारतीय टीम अभी ऑस्ट्रेलिया के साथ सीरीज खेल रही है T20 सीरीज समाप्त होने के बाद टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका का दौरा करना है। वहां पर इको टेस्ट वनडे और T20 के मुकाबले खेलने हैं।

इसके लिए भारतीय टीम के युवक गेंदबाज रवि बिश्नोई को टीम में शामिल किया गया है। वहीं अनुभवी स्पिनर गेंदबाज चहल को वनडे फॉर्मेट के लिए टीम में चुना गया है। लेकिन T20 सीरीज में इनको बाहर किया गया है।

टीम इंडिया के चयनकर्ता के इस रणनीति से साफ-साफ लग रहा है कि आगामी टूर्नामेंट के लिए रवि बिश्नोई भारतीय टीम का भविष्य हो सकता है और उनकी टीम में एंट्री होने से यजुवेंद्र चहल की बाहर रहना हंड्रेड परसेंट दिख रहा है।

चयनकर्ता का नजर है रवि बिश्नोई पर

बता दे की टीम इंडिया के खतरनाक स्पिनर गेंदबाज रवि बिश्नोई पर चयनकर्ता का नजर टिका है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 मैच की T20 सीरीज में रवि बिश्नोई ने बहुत ही शानदार रिकार्ड हासिल किया है।

रवि बिश्नोई एक मैच में 9 विकेट लेने के मामले में अश्विन के रिकॉर्ड की बराबरी कर लिया है। ऐसे में टीम मैनेजमेंट बिश्नोई को भारत के भविष्य के रूप में देखना चाह रही है। जबकि यजुवेंद्र चहल को उनके करियर के ढलान के रूप में देखी जा रही है।

बता दे की इस साल जारी दोनों खिलाड़ियों की T20 प्रदर्शन की बात करें तो रवि बिश्नोई यह चहल से काफी आगे नजर आ रहे हैं। चहल टीम इंडिया के लिए इस साल कुल 9, T20 मुकाबले खेले हैं जिम 9 सफलता हाथ लगी है।

जबकि रवि बिश्नोई इस साल T20 फॉर्मेट में 11 मुकाबले खेले हैं जिसमें 18 विकेट लिए हैं यानी की साफ-साफ दिख रहा है कि रवि बिश्नोई, यजुवेंद्र चहल से काफी कदम आगे निकल चुके हैं।

Leave a Comment