हार्ट अटैक आने से पहले शरीर देता है ये 7 संकेत, 1 महीने पहले शुरू होता है प्रोसेस, पहचानें और तुरंत करें इलाज

Warning Signs of a Heart Attack:हार्ट अटैक के आने से पहले शरीर दिखाता हैं कुछ संकेत, जिन्हें पहचानकर समय पर इलाज करना जरुरी हैं। इस टॉपिक पर हम जानेंगे की वो 7 संकेत और उनका समय पर पहचान करना कितना महत्वपूर्ण हैं। हार्ट अटैक के आने से करीब 1 महीने पहले ही शरीर में कुछ संकेत दिखाई देना शुरू हो जाते हैं। यहाँ हम उन संकेतों के बारे में विस्तार से जानेंगे, जो हमें इस खतरे की पहचान में मदद कर सकते हैं।

आधुनिक समय में हार्ट से जुड़ी बीमारियों की बढ़ती संख्या चिंता का विषय बन रही है। हार्ट अटैक की संभावना से बचने के लिए, अपने खानपान और लाइफस्टाइल पर ध्यान देना अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि हार्ट अटैक आने से 1 महीने पहले शरीर में कैसे संकेत दिखाई देते हैं और उनका महत्व क्या है।

हार्ट अटैक आने से पहले मिलते हैं संकेत (Warning Signs of a Heart Attack)

बहुत से लोग हार्ट से जुड़ी समस्याओं के संकेतों को समझने में संकोच करते हैं। अक्सर वे हार्ट अटैक के लक्षणों को नजरअंदाज कर देते हैं। हार्ट अटैक से बचने के लिए, शरीर के बदलावों और संकेतों पर ध्यान देना बहुत महत्वपूर्ण है। डॉक्टर्स के मुताबिक, हार्ट अटैक से करीब 1 महीने पहले ही शरीर इसके संकेत देने लगता है, जिसे समय पर पहचानकर बचाव किया जा सकता है।

1.हार्ट अटैक आने से करीब 1 महीने पहले मरीजों को बिना काम के ही काफी ज्यादा थकान महसूस होती है।

2.हार्ट अटैक आने से पहले नींद आने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

3.कुछ मरीजों को हार्ट अटैक आने से पहले सांस लेने में तकलीफ होने लगती है।

4.हार्ट अटैक आने से पहले मरीजों को कमजोरी के साथ-साथ काफी ज्यादा पसीना आता है, जो चिपचिपा सा होता है।

5.कुछ मरीजों को चक्कर आने के साथ-साथ उल्टी आने की परेशानी होती है।

6.हाथों और पैरों में कमजोरी महसूस होना।

7.सोते समय सांस लेने में परेशानी महसूस होना।

हार्ट अटैक से कैसे रखें खुद को सुरक्षित?

हार्ट अटैक या हार्ट संबंधी समस्याओं से बचने के लिए निम्नलिखित उपायों पर ध्यान देना जरूरी होता है। कोशिश करें कि वसायुक्त खाद्य पदार्थों को सेवन न करें। नियमित रूप से करीब 20 से 30 मिनट एक्सरसाइज करें या फिर वॉक पर जाएं। इसके अलावा आपको हेल्दी आहार का सेवन करें, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को चेक कराते रहें, हार्ट बीट चेक करते रहें, ज्यादा नमक युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन न करें, अच्छी और गहरी नींद लें, सभी पोषक तत्वों से युक्त आहार का सेवन करें और पर्याप्त मात्रा में पानी पीने जैसी चीजों का सेवन करें।

डिस्क्लेमर: यहां बताई गई सभी बातें सामान्य जानकारी पर आधारित है। इसपर अमल करने से पहले आपको संबंधित विशेषज्ञों से परामर्श जरूर करना चाहिए।

Leave a Comment