विज्ञापन

इन 4 भारतीय खिलाड़ियों के टैलेंट को नहीं पहचान पाए विराट और धोनी, फिर खत्म हुआ क्रिकेट करियर

वर्तमान में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा है, उससे पहले विराट कोहली इंडिया के लिए कप्तानी किया करते थे। विराट से पहले महेंद्र सिंह धोनी भारत के कप्तान थे, जिन्हें इंडियन क्रिकेट इतिहास का सबसे सफल कप्तान माना जाता है, क्योंकि धोनी ने भारतीय टीम को अपनी कप्तानी में आईसीसी के सभी ट्रॉफी जीताया है। इसी वजह से आज भी फैंस उनकी तारीफ़ करते नहीं थकते हैं।

विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी

विज्ञापन

महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की कप्तानी में कई युवा खिलाड़ियों को खेलने का मौका दिया गया और उनमे से कुछ ने अपनी प्रदर्शन से फैंस का दिल भी जीता है। लेकिन आज हम आपको उन 4 भारतीय खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका टैलेंट महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली जैसे कप्तान भी नहीं समझ पाए। इसी वजह से उन खिलाड़ियों का क्रिकेट करियर खराब हो गया।

विज्ञापन

Table of Contents

1. अंबाती रायडू

अंबाती रायडू टीम इंडिया के लिए वनडे क्रिकेट में कई बेहतरीन पारियां खेली है। साल 2019 में खेले गए विश्व कप से पहले सबको उम्मीद थी कि उन्हें टीम में मौका दिया जाएगा। लेकिन चयनकर्ता और कप्तान विराट कोहली ने अंबाती रायडू पर विश्वास नहीं जाताया। उसके बाद शिखर धवन और विजय शंकर को चोटिल होने के बाद भी उन्हें टीम में जगह नहीं दी गई। इस वजह से रायडू ने संन्यास की घोषण कर दी थी।

2. अमित मिश्रा

भारतीय लेग स्पिनर अमित मिश्रा अपने क्रिकेट करियर के शुरुआत में बहुत चर्चा में रहे थे, क्योंकि उस दौरान उन्हें जबरदस्त गेंदबाजी करते हुए देखा जाता था। लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी उनकी काबिलियत को पहचान नहीं पाए, जिस वजह से मिश्रा को अधिक मौके नहीं दिए गए। अमित मिश्रा टीम इंडिया के लिए 22 टेस्ट मैचों में 76 विकेट, 36 वनडे मैचों में 64 विकेट तथा 10 टी-20 मुकाबलों में 16 विकेट चटकाए हैं।

3. मनोज तिवारी

मनोज तिवारी ने साल 2008 में भारत के लिए पहला वनडे मैच ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेला था, जिसमे वो सिर्फ 2 रन बना पाए थे। उसके बाद भी उन्हें भारत के लिए कुछ मैचों में खेलने का मौका मिला। उन्होंने भारत के लिए 12 वनडे मैचों में 287 रन तथा 3 टी-20 मुकाबलों में सिर्फ 15 रन बनाए हैं। लेकिन उसके बाद मनोज तिवारी को घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए देखा गया, लेकिन भारतीय टीम में उनकी वापसी नहीं हो पाई।

4. वरुण आरोन

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज वरुण आरोन का क्रिकेट करियर भी समाप्त होने वाला है, क्योंकि अब उन्हें टीम इंडिया के लिए खेलने का मौका नहीं दिया जा रहा है। भारत की तरफ से वरुण आरोन 9 टेस्ट और 9 वनडे मैच खेले हैं, लेकिन उस दौरान उनका प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा। वहीं घरेलू क्रिकेट में वरुण ने जबदरस्त गेंदबाजी की है, लेकिन फिर भी उन्हें भारत के लिए खेलने का मौका नहीं मिल पा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.