यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना 2022: आवेदन फॉर्म, लाभ व पंजीकरण (UP Bhagya Laxmi Yojana)

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के द्वारा उत्तर प्रदेश की सरकार गरीब परिवार में जन्मे लड़कियों को आर्थिक मदद करती है, इस स्कीम का लाभ अभी तक राज्य के बहुत सारे वैसे परिवारों को दिया गया है जिनकी आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर है। उत्तर प्रदेश में अभी भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो UP Bhagya Laxmi Yojana का लाभ लेने के पात्र है, लेकिन उन्हें इसके बारे में कोई जानकारी ही नहीं है जिस वजह से वो इसका लाभ लेने में असफल रहे हैं।

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना शुरू करने के पीछे कई अहम कारण है उनमे से सबसे बड़ी वजह कन्या भ्रूण हत्या जैसे अपराध पर रोक लगाना है। क्योंकि पिछले कुछ वर्षों से कन्या भ्रूण हत्या के मामले बहुत सारे सामने आए हैं जिस पर रोक लगाना अत्यंत आवश्यक है। इसी वजह से उत्तर प्रदेश की सरकार UP Bhagya Laxmi Yojana का संचालन करती है। अगर आप भी यूपी से आते हैं तो यह लेख आप के लिए मददगार साबित होगा, क्योंकि आगे इस आर्टिकल में उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के बारे में विस्तार से पूरी जानकारी दी गई है।

Table of Contents

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना क्या है – UP Bhagya Laxmi Yojana

उत्तर प्रदेश की सरकार अपने राज्य के गरीब परिवारों के लिए यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना चला रही है। इसके माध्यम से गरीब परिवारों के घर में बेटी पैदा होने पर उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। बता दें कि UP Bhagya Laxmi Yojana का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी के पास बैंक खाता होना आवश्य है, क्योंकि सरकार सीधा बैंक खाते में ही सहायता राशि भेजती है।

जब किसी गरीब परिवार के घर में कोई लड़की जन्म लेती है तो UP Bhagya Lakshmi Yojana के तहत उस परिवार को 50000 रुपये की राशि दी जाती है। वहीं उस बच्ची की मां को भी 5100 रुपये दिए जाते हैं। इसके अलावे भी सरकार आर्थिक सहयता राशि देती है जिसके बारे में हमने आगे चर्चा किया है। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ उठाने के लिए बच्ची के जन्म लेने के एक वर्ष के भीतर आवेदन करना होता है।

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना 2022 की कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

योजना का नाम यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना
शुरू किसने की उत्तर प्रदेश की सरकार ने
लाभार्थी राज्य के BPL परिवार की बेटियां
उद्देश्य गरीब परिवार में जन्मे बेटी को आर्थिक सहायता देना
विभाग महिला एवं बाल विकास
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट Mahilakalyan.up.nic.in

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना 2022 उद्देश्य क्या है?

हमारे देश में बहुत सारे गरीब परिवार है जिनके पास अधिक पैसे नहीं है, इस वजह से वो बेटी पैदा करना पसंद नहीं करते हैं। जब उनके घर में जब कोई बेटी हो जाती है तो उसे मार दिया जाता है। इस तरह के घटिया कार्य हर कोई नहीं करता है, लेकिन कुछ लोग पैसों की मजबूरी में ऐसा करते हैं, पिछले कुछ दशकों में इस तरह के मामले तेजी से बढ़े हैं। इसी वजह से सरकार उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

इस स्कीम को शुरू करने से बेटी के प्रति लोगों का नजरिया बदलेगा, ताकि भ्रूण हत्या जैसे मामले को नियंत्रतित किया जा सके। यूपी सरकार के इस योजना के द्वारा बेटियों को जन्म से ही शिक्षा के लिए पैसे दिए जाएंगे, इसके अलावे उनकी शादी के दौरान भी सरकार 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान करेगी। यह सब इसलिए किया जाता है ताकि लड़कियों का जीवन स्तर ऊपर की तरफ उठे।

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना 2022 के कुछ बेहतरीन लाभ

  • उत्तर प्रदेश राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर व गरीब परिवारों को इसका लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के तहत जन्म लड़की जन्म लेगी तब उन्हें 50000 रुपये दिए जाएंगे। वहीं उसकी मां को 5100 रुपये मिलेंगे।
  • उसके बाद जब बच्ची छठी कक्षा में जाएगी तो 3000, आठवीं में 5000 दशवीं में 7000 तथा बारहवीं में जाने पर 8000 मिलेंगे।
  • फिर उस लड़की की आयु 21 वर्ष हो जाएगी तो शादी के लिए उनके माता-पिता को 2 लाख रुपये मिलेंगे।
  • यूपी सरकार की इस स्कीम का लाभ एक परिवार में अधिकतम दो बच्ची को मिलेगा।
  • इस योजना के तहत लड़की को शिक्षा के लिए सरकारी शिक्षण संस्थान में दाखिल करवाना होगा।
  • इस योजना की वजह से लड़कियों का जीवन स्तर ऊपर की तरफ उठेगा।

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना 2022 की पात्रता क्या है?

  • इस स्कीम का का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आवेदक को उत्तर प्रदेश का निवासी होना जरुरी है।
  • जब घर में बेटी पैदा होगी, उसके बाद ही इस योजना का लाभ मिल पाएगा।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए परिवार की वार्षिक आय अधिकतम 2 लाख रुपये तक होने चाहिए।
  • इस स्कीम का फायदा उठाने के लिए बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र होना आवश्यक है।
  • यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ उसे ही मिलेगा, जिसके घर में कोई भी व्यक्ति सरकारी नौकरी नहीं करता हो।
  • राज्य के जिन लड़कियों का जन्म 31 मार्च 2006 के बाद हुआ होगा, उन्हें इस स्कीम का लाभ मिलेगा।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2022 के लिए दस्तावेज

  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • माता पिता का आधार कार्ड
  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के लिए आवेदन कैसे करे?

अगर आप यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए सभी स्टेप को ध्यानपूर्वक पढ़िए। उसके बाद आप घर बैठे आसानी से इस के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं :-

  • सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होना।
  • उसके बाद आपको आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना होगा।
  • अब आप उस फॉर्म को अच्छी तरह भरिए।
  • उस फॉर्म को अच्छी तरह भरने के बाद उसके साथ डाक्यूमेंट्स अटैच कीजिए।
  • अब आप उस फॉर्म को आंगनवाड़ी केंद्र या महिला कल्याण विभाग के ऑफिस में जाकर जमा कर दीजिए।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना से जुड़ी सवाल के लिए संपर्क कैसे करें?

  • सबसे पहले आप इसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाइए।
  • उसके बाद होम पेज पर मेनू बार में संपर्क करें पर क्लिक करें।
  • अब आपको उस पेज पर कई लिंक दिख रहे होंगे।
  • आप उस लिंक पर क्लिक करके संपर्क विवरण प्राप्त कर सकते हैं।

Bhagya Laxmi Yojana से संबंधित सवाल व जवाब (FAQ)

क्या आपके मन में भी इस योजना को लेकर कोई प्रश्न है तो नीचे दिए गए सवालों को अवश्य पढ़िए .वहां पर उसके जवाब भी दिए गए हैं जो आप के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हो सकते हैं :-

Q: उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना क्या है?

यह उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जाने वाली एक योजना है जिसके द्वारा राज्य के गरीब परिवार में बेटी जन्म लेने पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।

Q: यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना का उद्देश्य क्या है?

इस योजना का उद्देश्य राज्य में होने वाले भ्रूण हत्या को रोकना तथा गरीब परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

Q: यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ कौन ले सकता है?

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के गरीब परिवारों को मिलेगा।

Q: भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत 2 लाख रुपये कब दिए जाते हैं?

इस योजना के तहत 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता राशि बच्ची के 21 वर्ष की आयु में दी जाती है।

इसे भी अवश्य पढ़िए :-

पारदर्शी किसान सेवा योजना क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.