विज्ञापन

आरसीबी का ये खिलाड़ी निकला फ्रॉड, सरकारी नौकरी हथियाने के लिए की धोखाधड़ी, पुलिस पड़ी पीछे तो हुआ फरार

इंडियन प्रीमियर लीग में आरसीबी की टीम के लिए बहुत सारे खिलाड़ी खेल चुके हैं, जिसमे से कुछ का प्रदर्शन बहुत बढ़िया रहा है। इसी वजह से उनकी टीम कई बार अच्छी प्रदर्शन करने में सफल हुई है। वहीं कुछ क्रिकेटर्स इस लीग में रॉयलचैलेंजर्स बैंगलोर के लिए अच्छी प्रदर्शन करने में सफल नहीं रहे है, जिस वजह से उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया।

आरसीबी
विज्ञापन

आईपीएल के मौजूदा सीजन में आरसीबी की टीम ने अच्छी प्रदर्शन की है, इस वजह से फैंस को पूरी उम्मीद है कि इस बार बैंगलोर ली टीम प्लेऑफ में अवश्य जगह बनाएगी। इसी बीच एक ऐसी खबर आ रही है, जिसे सुनकर फैंस बहुत दुखी होंगे। क्योंकि आईपीएल में आरसीबी टीम का हिस्सा रह चुके एक भारतीय खिलाड़ी ने बहुत बड़ा फ्रॉड किया है, जिस वजह से पुलिस उनके पीछे पड़ी हुई है।

आरसीबी का ये खिलाड़ी निकला फ्रॉड

हम जिस खिलाड़ी के बारे में बात करने जा रहे हैं उसका नाम हरप्रीत सिंह भाटिया है, जिन्होंने बहुत बड़ा फ्रॉड किया है। इस वजह से पुलिस उनके पीछे पड़ी हुई है, लेकिन वो फिलहाल फरार चल रहा है। छत्तीसगढ़ रणजी क्रिकेट टीम के लिए कप्तानी करने वाले हरप्रीत सिंह भाटिया पर धोखाधड़ी करने का बहुत बड़ा आरोप लगा है। इस वजह से उनके खिलाफ जालसाजी का मामला दर्ज कर लिया गया है।

हरप्रीत सिंह भाटिया
विज्ञापन

बता दें कि हरप्रीत सिंह भाटिया सरकारी नौकरी पाना चाहता है, इस वजह से उन्होंने फर्जी मार्कशीट का इस्तेमाल किया। साल 2014 में उन्होंने लेखपाल पद के लिए आवेदन किया था। उस आवेदन के दौरान हरप्रीत ने बीकॉम की मार्कशीट का इस्तेमाल किया था। फिर अधिकारीयों को जब उसके मार्कशीट पर शक हुआ तो उसकी छानबीन शुरू कर दी गई। उसके बाद मालूम चला कि वह मार्कशीट फर्जी है।

आपको बता दें कि हरप्रीत सिंह भाटिया ने बुंदेलखंड विश्वविद्यालय से बीकॉम करने का दावा किया था। लेकिन छानबीन के दौरान बुंदेलखंड विश्वविद्यालय ने कहा कि उनकी तरफ से हरप्रीत का मार्कशीट जारी नहीं किया गया है। उसके बाद पुलिस ने हरप्रीत के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 468, 467, 469, 470 और 471 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

आईपीएल में आरसीबी का रह चुके हैं हिस्सा

आपको बता दें कि हरप्रीत सिंह भाटिया बाएं हाथ के बल्लेबाज है जो इंडियन प्रीमियर लीग में कई टीमों के लिए खेल चुके हैं, जिसमे आरसीबी, केकेआर और पुणे वारियर्स का नाम शामिल है। इस लीग में हरप्रीत को आरसीबी और पुणे के लिए एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला, लेकिन केकेआर की तरफ से उन्होंने 4 मैचों में सिर्फ 20 रन बना पाए हैं। वहीं घरेलू क्रिकेट में उन्होंने छतीसगढ़ के लिए कई बेहतरीन पारियां खेली है, लेकिन फिर भी उन्होंने सरकारी नौकरी पाने के लिए धोखाधड़ी का काम किया। जिस वजह से पुलिस उनके पीछे पड़ी हुई है, लेकिन वो फिलहाल फरार चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.