विज्ञापन

इस बल्लेबाज ने टी-20 में जड़ा तिहरा शतक, मात्र 72 गेंदों में जड़ दिया 39 छक्के और 14 चौके, बना दिया विश्व रिकॉर्ड

जब भी कोई बल्लेबाज टी-20 क्रिकेट में शतक लगाता है तो वो लंबे समय तक सुर्खियों में बना रहता है। इस वजह से उन खिलाड़ियों की खूब प्रशंसा होती है। टी-20 क्रिकेट का सबसे छोटा फॉर्मेट है, इस वजह से बहुत कम बल्लेबाज इस प्रारूप में बड़ी पारी खेल पाते हैं। वर्तमान में इस प्रारूप को सबसे अधिक पसंद किया जा रहा है, क्योंकि इसमें बड़े-बड़े छक्के लगते हैं।

मोहित अहलावत
विज्ञापन

दुनिया के बहुत सारे बल्लेबाजों ने टी-20 क्रिकेट में बड़ी-बड़ी पारियां खेली है, लेकिन एक ऐसा भी बल्लेबाज है जिन्होंने टी-20 क्रिकेट में वो कारनामा कर दिया है जो टेस्ट में भी करना बहुत मुश्किल काम है। आज हम एक ऐसे भारतीय बल्लेबाज के बारे में बात करने जा रहे हैं जिन्होंने टी-20 क्रिकेट में तिहरा शतक लगाने का कारनामा किया है।

इस बल्लेबाज ने टी-20 में लगाया तिहरा शतक

दुनिया में बहुत सारे ऐसे बल्लेबाज है जिन्होंने अपने क्रिकेट करियर में बहुत सारे वनडे मैच खेले हैं, लेकिन उस दौरान उनके बल्ले से एक भी शतक नहीं निकल पाया। लेकिन दिल्ली के एक युवा विकेटकीपर ने टी-20 क्रिकेट में तिहरा शतक जड़कर सबको हैरान कर दिया है। हम जिस खिलाड़ी के बारे में बात करने जा रहे हैं, उसका नाम मोहित अहलावत है जो बड़े-बड़े छक्के लगाने के लिए जाना जाता है।

विज्ञापन

आपको बता दें कि मोहित अहलावत ने एक लोकल टी-20 टूर्नामेंट में 72 गेंदों का सामना करते हुए सिर्फ 14 चौके और 39 गगनचुंबी छक्के की मदद से 300 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। उस दौरान मोहित का स्ट्राइक रेट 416.66 का था। मोहित ने यह कारनामा साल 2017 के एक लोकल टी-20 प्रतियोगिता में किया था, जिस वजह से उस समय वो लंबे समय तक चर्चा में रहे थे।

तोड़ दिया वर्ल्ड रिकॉर्ड

लोकल टी-20 टूर्नामेंट में इससे पहले सबसे बड़ी पारी खेलने का विश्व रिकॉर्ड श्रीलंका के बल्लेबाज धानुका पथिराना के नाम दर्ज था, जिन्होंने 72 गेंदों का सामना करते हुए 277 रनों की विस्फोटक पारी खेली थी। उस दौरान धानुका पथिराना के बल्ले से 18 चौके और 29 गगनचुंबी छक्के देखने को मिले थे। लेकिन भारतीय युवा बल्लेबाज मोहित अहलावत ने 72 गेंदों पर 300 रन बनाकार धानुका का वर्ल्ड रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.