जिस खिलाड़ी ने इंग्लैंड को वर्ल्ड कप से किया बाहर, उसने बल्ले से मचाई तबाही, सिर्फ 18 गेंदों में जड़ दिए 78 रन

इन दिनों दुनिया में कई टीमों के बीच मैच खेले जा रहे हैं, लेकिन उनमे से अधिकतर टीमें टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारी में जुटी हुई है। इस बार ऑस्ट्रेलिया की धरती पर अगले महीने विश्व कप खेला जाएगा। जिस वजह से दुनिया की लगभग सभी टीमों के लिए ऑस्ट्रेलिया में बेहतर प्रदर्शन करना बहुत बड़ी चुनौती होगी।

केविन ओ ब्रायन और इंग्लैंड टीम

इसी को ध्यान में रखते हुए सभी टीमें उस टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारी में जुटी हुई है। उस विश्व कप से पहले कई टीमों के लिए अच्छी खबर सामने आ रही है, क्योंकि उनके बहुत सारे खिलाड़ी इन दिनों अलग-अलग लीग में धमाकेदार प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी वजह से फैंस का मानना है कि इस बार टी-20 वर्ल्ड कप में उनकी टीम की जीत लगभग तय है।

वेस्टइंडीज के गेंदबाज ने रचा इतिहास, टी-20 में ठोका तूफानी शतक, जड़ दिए 9 छक्के, सहवाग के टीम की उड़ाई नींद

इस खिलाड़ी ने इंग्लैंड को वर्ल्ड कप से किया बाहर

इंग्लैंड वर्तमान में दुनिया की सबसे मजबूत टीमों में से एक है, इसी वजह से उन्हें टी-20 वर्ल्ड कप 2022 का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। लेकिन आज हम साल 2011 में खेले गए विश्व कप के बारे में बात करने जा रहे हैं। उस वर्ष इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच एक मैच खेला गया था, लेकिन उस वर्ल्ड कप में इंग्लैंड को बने रहने के लिए आयरलैंड हो हराना बहुत जरुरी था।

उस मैच में इंग्लैंड की टीम पहले बल्लेबाजी करती हुई 327 रन बनाई थी। इस वजह से लोगों का मानना था कि वह मुकाबला इंग्लैंड आसानी से जीत जाएगा, क्योंकि आयरलैंड के शुरुआती कुछ विकेट बहुत जल्द गिर गए थे। लेकिन छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए केविन ओ ब्रायन ने सब कुछ बदल दिया।

केविन ओ ब्रायन इंग्लैंड के विरुद्ध उस मैच में छठे पायदान पर बल्लेबाजी करते हुए मात्र 50 गेंदों पर शतक पूर किया। इसी के साथ वो वर्ल्ड कप में सबसे तेज शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए। उस मैच में केविन ओ ब्रायन 63 गेंदों पर 13 चौके और 6 गगनचुंबी छक्के की मदद से 113 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। इसी वजह से इंग्लैंड की टीम साल 2011 के वर्ल्ड कप से बाहर हो गया था।

अब सिर्फ 18 गेंदों में ठोका 78 रन

केविन ओ ब्रायन इन दिनों भारत में लीजेंड्स लीग क्रिकेट 2022 खेल रहे हैं। इस लीग का पहला मुकाबला इंडिया कैपिटल्स और गुजरात जायंट्स के बीच खेला गया। उस मैच में केविन ओ ब्रायन गुजरात जायंट्स के लिए खेलते हुए 61 गेंदों पर 15 चौके और 3 गगनचुंबी छक्के की मदद से 106 रनों की शतकीय पारी खेली है।

उस शतकीय पारी के दौरान केविन ओ ब्रयान ने 15 चौके की मदद से 60 और तीन छक्के की सहायता से 18 रन बनाए हैं। इस तरह उन्होंने सिर्फ 18 गेंदों में 78 रन बनाए हैं, इसी वजह से गुजरात जायंट्स की टीम 180 रनों का लक्ष्य आसानी से हासिल कर लिया। केविन ओ ब्रायन ने इसी साल इंटरनेशनल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लिया है।

वीरेन्द्र सहवाग की टीम ने इंडिया कैपिटल्स को 3 विकेट से रौंदा, नर्स और ब्रायन ने रचा इतिहास, मैच में बने 10 वर्ल्ड रिकॉर्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *