विराट के फॉर्म पर शास्त्री और पीटरसन ने दी सलाह, कहा – कोहली को 6 महीने के लिए करना होगा ये काम

आईपीएल 2022 कई खिलाड़ियों के लिए अभी तक शानदार रहा है, लेकिन आरसीबी के पूर्व कप्तान विराट कोहली इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सीजन में अभी तक कुछ खास कमाल करने में सफल नहीं हुए हैं। इस वजह से विराट के समर्थक बहुत निराश है, क्योंकि कोहली पहले इतना ज्यादा फ्लॉप कभी नहीं होते थे।

रवि शास्त्री, केविन पीटरसन और विराट कोहली

इन दिनों जिस तरह विराट कोहली लगातार फ्लॉप हो रहे हैं, उस वजह से बहुत सारे पूर्व दिग्गज अपनी-अपनी प्रतिक्रया दे चुके हैं। लेकिन अब टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री और इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज केविन पीटरसन ने भी विराट कोहली की फॉर्म को लेकर सुझाव दिया है। अब आप सोच रहे होंगे कि पीटरसन और शास्त्री ने कोहली को क्या सलाह दी है तो चलिए अब हम इसके बारे में भी जान लेते हैं।

रवि शास्त्री ने विराट कोहली को दी सलाह

रवि शास्त्री क्रिकेट को लेकर हमेशा कुछ न कुछ बयान देते रहते हैं। अब उन्होंने पूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली के फॉर्म को लेकर बात करते हुए कहा कि “इस समय विराट कोहली को ब्रेक की आवश्यकता है, क्योंकि उनके अंदर अभी भी 5 से 6 साल का क्रिकेट बचा हुआ है। इस वजह से आप ऐसे खिलाड़ी को खोना नहीं चाहते हैं। विराट एकमात्र ऐसे खिलाड़ी नहीं है, फिलहाल दुनिया में एक-दो खिलाड़ी इस दौर से गुजर रहे हैं।”

पीटरसन ने शास्त्री के बात से जताई सहमती

इंग्लैंड के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज केविन पीटरसन भी रवि शास्त्री के बात से सहमत हुए। इसके बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि “रवि शास्त्री 100 प्रतिशत सही कह रहे हैं। विराट कोहली को कई चीजों से डील करना पड़ा है। शादी से लेकर बच्चे तक। कोहली की प्राइवेट लाइफ पर मीडिया का कमेंट। वह वर्तमान में सबसे बड़े स्टार है।”

पीटरसन ने आगे कहा कि “विराट कोहली को अगले 6 महीनों के लिए क्रिकेट से ब्रेक लेना चाहिए। उन्हें सोशल मीडिया को भी बंद कर देना चाहिए। उसके बाद तरोताजा होकर फिर मैदान पर वापस लौटना चाहिए। जब मैदान फिर से फुल हो जाएंगे, उसके बाद उन्हें 12, 24 या 36 महीनों के लिए टीम में बने रहने की गारंटी दीजिए। फिलहाल विराट कोहली लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। इसी वजह से लखनऊ के खिलाफ पिछले मुकाबले में वो गोल्डन डक का शिकार हो गए थे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.