विज्ञापन

रोवमेन पॉवेल ने सुनाई अपनी दर्द भरी कहानी, कहा – उनके पिता उन्हें कोख में मार देना चाहते थे, लेकिन…..

वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज रोवमेन पॉवेल आईपीएल के 15वें सीजन में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल रहे हैं। उस दौरान पिछले कुछ मैचों से उन्हें जबरदस्त अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए देखा जा रहा है। कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ आईपीएल 2022 के 41वें मुकाबले में उन्होंने जबरदस्त अंदाज में बल्लेबाजी की थी, जिस वजह से दिल्ली कैपिटल्स उस मुकाबले को जीतने में सफल रही।

रोवमेन पॉवेल
विज्ञापन

उस मैच में रोवमेन पॉवेल ने 16 गेंदों पर एक चौके और 3 गगनचुंबी छक्के की मदद से 33 रनों की नॉट आउट पारी खेली। इस वजह से दिल्ली कैपिटल्स वह मुकाबला एक ओवर शेष रहते हुए 4 विकेट से जीत लिया। उसके बाद डीसी टीम के कप्तान ऋषभ पंत ने भी रोवमेन पॉवेल की तारीफ की थी।

रोवमेन पॉवेल ने सुनाया अपनी दर्द भरी कहानी

वेस्टइंडीज के 28 वर्षीय रोवमेन पॉवेल की जिंदगी बहुत संघर्ष भरा रहा है। पॉवेल के माता-पिता बहुत गरीब थे, जिस वजह से पॉवेल के पिता उन्हें कोख में ही मार देना चाहते थे। अपनी जिंदगी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि “मैं अपनी मां को बिना थके खूब मेहनत करते हुए देख चुका हूं। वो हमें स्कूल भेजने और खाना लाने के लिए कपड़े धोने का काम करती थी। मैं जब भी क्रिकेट के मैदान में फंस जाता हूं तो उस दौरान में यह नहीं सोचता कि यह मैं खुद के लिए नहीं कर रहा हूं। यदि मैं अपने के लिए कुछ करता तो रुक जाता। लेकिन मैं अपनी मां और बहन के लिए कर रहा हूं।”

विज्ञापन

रोवमेन पॉवेल की मां ने कहा कि “जब मुझे इसकी जानकारी हुई कि मैं प्रेग्नेंट हूं, उसके बाद मेरे पति ने पॉवेल को कोख में मार देने के लिए कहा। लेकिन मुझसे बिल्कुल भी नहीं हुआ। इस वजह से हमने निर्णय किया कि मैं बच्चे को जन्म दूंगी और उसे पालूंगी। उसके बाद हमने अपने प्यारे बच्चे को जन्म दिया। वह मेरे के लिए काफी भावुक तथा खुशी का समय था जब रोवमेन मेरी जिंदगी में आया।”

रोवमेन पॉवेल और उसकी मां

रोवमेन पॉवेल की मां ने आगे कहा कि “मेरा बेटा थोड़ा नटखट है, लेकिन वो बहुत चुप रहता है। जब बारिश होती थी तो हमारी स्थिति ठीक नहीं रहती थी। क्योंकि उस समय हमारे घर में पानी भर जाता था, जिस वजह से हमारा सोना भी मुश्किल हो जाता था। उस समय रोवमेन बहुत छोटा था और कहता था कि आप और बहन सो जाओ मैं घर का ध्यान रखता हूं। पॉवेल उस समय भी दिखाता था कि वो बहुत बड़ा है और वो हमारा ख्याल रख सकता है।”

रोवमेन पॉवेल की मां इंटरव्यू के दौरान बहुत ज्यादा भावुक हो गई और वो रोती नजर आई। उस दौरान आगे उन्होंने कहा कि “मेरा बेटा रोवमेन पॉवेल ने कहा कि मैं क्रिकेट के जरिए तुझे गरीबी से बाहर निकालूंगा। क्योंकि मैं गरीब रहते हुए नहीं मरना चाहता। उस समय मुझे रोवमेन की बातों पर थोड़ा भी संदेह नहीं हुआ। इस वजह से हमने उसका पूरा साथ दिया।”

उसके बाद अपने पिता के बारे में बात करते हुए रोवमेन पॉवेल ने कहा कि “मेरे दिल में उनके बारे में थोड़ी भी नफरत नहीं है। क्योंकि मुझे पैदा करने में उनका जितना योगदान है वही बहुत है। जिन बच्चों के पिता उनके साथ नहीं है, मैं उनसे कहन चाहता हूं कि अगर तुम्हारे साथ पिता नहीं है तो क्या हुआ, लेकिन भगवान तुम्हारे साथ अवश्य है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.