कुतुब मीनार की लंबाई कितनी है | Qutub Minar Ki Lambai Kitni Hai

क्या आपका भी प्रश्न है कि कुतुब मीनार की लंबाई कितनी है? तो यह लेख आपको पूरा पढ़ना चाहिए। क्योंकि हमने इस आर्टिकल में Qutub Minar ki Lambai के साथ-साथ इससे संबंधित कई महत्वपूर्ण टॉपिक पर चर्चा किया है जिसके बारे में हर किसी को जानकारी होनी चाहिए। हमारी कोशिश यह है कि इसी लेख में आपको कुतुब मीनार से जुड़ी अधिक से अधिक सवालों के जवाब मिल जाए।

कुतुब मीनार की लंबाई कितनी है?

कुतुब मीनार को ईंट से बनाया गया है जो वर्तमान में ईंट से बनी हुई दुनिया की सबसे ऊंची मीनार है। यही कारण है कि पूरे विश्व में यह प्रसिद्ध है। हम सब जानते हैं कि भारत की राजधानी दिल्ली है जहां पर प्राचीन काल के कई अवशेष मिले हैं और उन्ही में से एक कुतुब मीनार भी है। जिसे देखने के लिए भारत के अन्य राज्यों के अलावे विदेशों से भी लोग आते हैं।

भारत में कई दर्शनीय स्थल मौजूद है जिसमे से एक कुतुब मीनार भी है जहां पर बहुत सारे हिंदी फिल्मों की शूटिंग भी की जा चुकी है। अगर आप हिंदी सिनेमा देखने के शौक़ीन है तो कई फिल्मों में आपने कुतुब मीनार को देखा होगा, वहीं कुछ लोग इस दर्शनीय स्थल पर गए भी होंगे।

कुतुब मीनार भारत के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल में से एक हैं, जिस वजह से इसके बारे में हर किसी को अधिक से अधिक जानकारी होनी चाहिए। जिसमे यह लेख कुतुब मीनार की लंबाई कितनी है? काफी हद तक मदद करने वाला है, क्योंकि हमने आगे Qutub Minar ki Lambai के साथ-साथ इसके विभिन्न विषयों पर सरल शब्दों में बताने की कोशिश की है।

कुतुब मीनार की लंबाई कितनी है – Qutub Minar Ki Lambai Kitni Hai

कुतुब मीनार को स्तंभ या मीनार के नाम से भी जाना जाता है जिसकी लंबाई 72.5 मीटर यानी 237.86 फीट है। इस मीनार की व्यास 14.3 मीटर यानी 46.91 फीट है, वहीं शिखर पर कुतुब मीनार की व्यास 2.75 मीटर यानी 9.02 फीट हो जाती है। कुतुब मीनार में कुल 379 सीढ़ियां है जिसमे एक लोहे का खंभा भी मौजूद है। यह मीनार 5 मंजिला ऊंची है जिसके पांचवीं मंजिल की उंचाई 22 फीट 4 इंच है।

आपको यह भी बता दें कि कुतुब मीनार में जो 5 मंजिल है उसमे से शुरू के तीन मंजिल बलुई पत्थर से बनाया गया है और अंतिम के दो मंजिल का निर्माण बलुई तथा मार्बल पत्थर से किया गया है। यह मीनार कई बार भूकंप की वजह से क्षतिग्रस्त भी हुई है, लेकिन समय-समय पर उसकी मरम्मत भी करवाई गई है।

कुतुब मीनार कहां स्थित है?

कुतुब मीनार भारत की राजधानी दिल्ली के दक्षिण भाग महरौली में स्थित है। दिल्ली भारत की राजधानी होने की वजह से प्रसिद्ध है, इसके अलावे वहां पर कुतुब मीनार और ताजमहल जैसे कई लोकप्रिय पर्यटन स्थल मौजूद है। यही कारण है कि वहां पर देश-विदेश से बहुत सारे लोग आते हैं।

कुतुब मीनार किसने बनवाया था और कब?

आपको बता दें कि भारत का पहला मुस्लिम शासक कुतुबुद्दीन ऐबक था, जो अफगानिस्तान में मौजूद जाम मीनार से प्रेरित होने के बाद सन 1193 में कुतुब मीनार का निर्माण करवाने का कार्य प्रारंभ किया था। लेकिन वो उस कार्य को पूरा करने में असफल रहे हैं, क्योंकि उनकी मृत्यु हो गई

उसके बाद दिल्ली का अगला शासक इल्तुतमिश बना, जिन्होंने कुतुब मीनार में तीन मंजिल जुड़वाने का काम किया। फिर इस मीनार का पांचवां और आखिरी मंजिल फ़िरोज़ शाह तुग़लक़ ने सन 1368 में बनवाया।

इसका नाम कुतुब मीनार कैसे पड़ा?

दिल्ली में स्थित इस स्तंभ का नाम कुतुब मीनार कैसे पड़ा? इसका सही उत्तर कहीं भी मौजूद नहीं है। यही कारण है कि आज भी इस पर विवाद चल रहा है। इस संबंध में कुछ लोगों का कहना है कि इस मीनार का नाम कुतुबुद्दीन ऐबक के नाम पर रखा गया था, जिन्होंने इसे बनवाने का काम शुरू किया था। वहीं कुछ का यह मानना है कि इसका नाम कुतुबुद्दीन बख्तियार काकी के नाम पर रखा गया था, जिसे इल्तुतमिश बहुत सम्मान करते थे।

कुतुब मीनार के टिकट की कीमत कितनी है?

जो लोग कुतुब मीनार कभी नहीं गए हैं तो उनके मन में यह प्रश्न जरुर आता होगा कि इसके टिकट की कीमत कितने की आती है। तो मैं आपको बता दूं कि जो लोग भारत के निवासी है तो उन के लिए टिकट की प्राइस 40 रुपये तय की गई है, वहीं ऑनलाइन लेने पर पांच रुपये की छूट दी जाती है जिस वजह से सिर्फ 35 रुपये में कुतुब मीनार का टिकट मिल जाता है। इसके अलावा विदेशी के लिए टिकट की कीमत 600 रुपये तय की गई है और कई बार ऑफर होने की वजह से उन लोगों को भी 50 रुपये तक की छूट दी जाती है।

कुतुब मीनार से संबंधित कुछ रोचक तथ्य

  • कुतुब मीनार दुनिया के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल में से एक है।
  • ईंट से बनी हुई यह विश्व की सबसे ऊंची मीनार है।
  • इस मीनार की लंबाई 237.86 फीट है जो 72.5 मीटर के बराबर है।
  • कुतुब परिसर के भीतर लौह स्तंभ मौजूद है जो पूरी तरह छिपा हुआ है।
  • कुतुब मीनार के अंदर ऊपर की तरफ जाने वाली कुल 379 सीढ़ियां बनी हुई है।
  • कुतुब मीनार जिस स्थान पर है उस क्षेत्र को कुतुब कॉम्पलेक्स कहा जाता है।
  • बार-बार मरम्मत करवाने के वजह से कुतुब मीनार थोड़ी से झुकी हुई है।
  • आसमानी बिजली गिरने की वजह से सन 1369 में इसकी पांचवीं मंजिल टूट गई थी।
  • कुतुब परिसर में मौजूद लोहे के खंभे में अभी तक जंग नहीं लगा है।

कुतुब मीनार से संबंधित सवाल व जवाब (FAQ)

वैसे इस लेख में हमने कुतुब मीनार की लंबाई के साथ-साथ इससे जुड़ी कई महत्वपूर्ण विषयों पर बात किया है। लेकिन फिर भी कुछ लोगों के मन में कई तरह के सवाल चल रहे होंगे, उसे दूर करने के लिए हमने नीचे इससे जुड़ी कुछ प्रश्नों के उत्तर दिए हैं जो आप के लिए महत्वपूर्ण हो सकते हैं।

Q: कुतुब मीनार को बनाने में कितना समय लगा?

कुतुब मीनार बनाने का कार्य सन 1193 में चालू और 1368 में संपन्न हुआ।

Q: कुतुब मीनार कौन बनाया था?

कुतुब मीनार बनवाने में कुतुबुद्दीन ऐबक, इल्तुतमिश और फ़िरोज़ शाह तुग़लक़ का योगदान रहा है।

Q: कुतुब मीनार का निर्माण किस शासक ने और कब शुरू करवाया?

दिल्ली के प्रथम मुस्लिम शासक कुतुबुद्दीन ऐबक ने 1193 में कुतुब मीनार के निर्माण का कार्य शुरू करवाया था।

Q: कुतुब मीनार में कितनी मंजिल?

कुतुब मीनार में कुल पांच मंजिल है।

Q: कुतुब मीनार क्यों प्रसिद्ध है?

क्योंकि यह दुनिया की सबसे ऊंची ईंट से बनी हुई मीनार है।

तो अब आपको यह मालूम चल गया होगा कि कुतुब मीनार की लंबाई कितनी है? साथ ही आपने इससे संबंधित कई महत्वपूर्ण टॉपिक के बारे में भी जानकारी प्राप्त की है जिसे पढ़कर आपको अच्छा लगा होगा। लेकिन अभी भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जिन्हें यह नहीं मालूम है कि Qutub Minar Ki Lambai Kitni Hai? इस वजह से आप सोशल मीडिया पर इस लेख शेयर अवश्य कीजिए।

इसे भी जरुर पढ़िए :-

चंद्रमा का पर्यायवाची शब्द क्या-क्या है?

पृथ्वी का पर्यायवाची शब्द क्या-क्या है?

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें?

Leave a Comment