अब रोहित नहीं बल्कि जसप्रीत बुमराह होंगे भारतीय टेस्ट टीम के नियमित कप्तान, जानें इसकी 3 बड़ी वजह

भारतीय टीम इन दिनों इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का अंतिम मैच खेल रही है, जिसमे टीम इंडिया की तरफ से तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह कप्तानी कर रहे हैं। क्योंकि इस मुकाबले से पहले रोहित शर्मा कोरोना संक्रमित पाए थे, जिस वजह से उन्हें इस मैच से बाहर होना पड़ा था।

रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह

जसप्रीत बुमराह इस टेस्ट मैच में जबरदस्त प्रदर्शन करते दिख रहे हैं। इस वजह से अब उन्हें टेस्ट क्रिकेट का नियमित कप्तान बनाने की बात हो रही है, क्योंकि इंग्लैंड के खिलाफ उन्हें अपने पहले मैच में अच्छी कप्तानी करते देखा गया है। तो चलिए अब हम आपको उन 3 कारणों के बारे में बताते हैं जिसकी वजह से जसप्रीत बुमराह को टेस्ट क्रिकेट का नियमित कप्तान बनाया जा सकता है।

1. रोहित शर्मा की आयु अधिक हो चुकी है

वर्तमान में रोहित शर्मा भारतीय टीम के नियमित कप्तान है, लेकिन अब उनकी आयु 35 साल से अधिक हो चुकी है। इस वजह से बीसीसीआई के मन में एक सवाल अवश्य चल रहा होगा कि रोहित के बाद किसे टीम इंडिया का कप्तान बनाया जाए। ऐसे में जसप्रीत बुमराह को टेस्ट टीम का नियमित कप्तान बनाया जा सकता है ताकि वो रोहित और विराट जैसे अनुभवी खिलाड़ियों की उपस्थिति में उनसे कप्तानी का अनुभव प्राप्त कर पाएंगे।

2. रोहित का अनफिट रहना

रोहित शर्मा की आयु बढ़ने की वजह से पिछले कुछ सालों के अंदर उन्हें कई बार अनफिट देखा गया है। इस वजह से महत्वपूर्ण मैचों में उन्हें टीम से बाहर का रास्ता देखना पड़ता है। इस वजह से अब जसप्रीत बुमराह को टेस्ट क्रिकेट का नियमित कप्तान बनाया जा सकता है ताकि रोहित के उपर अधिक दबाव ना पड़े।

3. बुमराह के बढ़िया अनुभव

भले ही जसप्रीत बुमराह के पास कप्तानी करने का अनुभव नहीं है, लेकिन उन्होंने अभी तक कुल 30 टेस्ट मैच खेले हैं। इस वजह से बुमराह के पास इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने का बढ़िया अनुभव भी है। जब बुमराह भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान बन जाएंगे, उसके रोहित शर्मा वनडे और टी-20 क्रिकेट पर अधिक ध्यान पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.