भारत के इस खिलाड़ी को माना जाता था अगला सहवाग, अब आईपीएल के बीच में क्रिकेट को कह सकता है अलविदा

पिछले कुछ समय से भारतीय क्रिकेट टीम में कई बदलाव हुए हैं। उस दौरान बहुत सारे खिलाड़ियों को टीम से बाहर का रास्ता दिखाया गया है तो कुछ नये खिलाड़ी को मौके भी दिए गए हैं। इसके अलावा अब टीम इंडिया के कप्तान भी बदल चुके हैं। पहले भारत के लिए विराट कोहली कप्तानी करते थे, लेकिन अब टीम की कमान रोहित शर्मा के हाथों में दे दी गई है।

भारत के इस खिलाड़ी को माना जाता था अगला सहवाग

जब से टीम इंडिया का का कप्तान रोहित शर्मा बने हैं उसके बाद उन्होंने बहुत सारे युवा खिलाड़ियों टीम में जगह दिया है, लेकिन कुछ अनुभवी खिलाड़ी को टीम से बाहर का भी रास्ता देखना पड़ा है। इस वजह से उनमे से कुछ खिलाड़ियों की नौबत संन्यास लेने की आ गई है। आज हम आपको एक ऐसे भारतीय खिलाड़ी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे एक समय टीम इंडिया का अगला सहवाग कहा जाता था, लेकिन अब उन्हें टीम में बिल्कुल भी मौका नहीं मिल रहा है।

अब इस खिलाड़ी को नहीं मिलता टीम में जगह

जब से रोहित शर्मा टीम इंडिया के लिए टेस्ट क्रिकेट में ओपनिंग करने लगे हैं उसके बाद से कई खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता देखना पड़ा है, उनमे से एक मुरली विजय भी है। जिन्हें अब इंडियन सेलेक्टर्स भारत के लिए खेलने का मौका नहीं दे रहे हैं। मुरली विजय भारत के लिए अंतिम टेस्ट मैच दिसंबर 2018 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेला था, उसके बाद से उन्हें कभी भी मौका नहीं दिया गया है। अब ऐसा लग रहा है कि विजय को कभी भी भारत के लिए खेलने का मौका नहीं मिलेगा।

वीरेन्द्र सहवाग के बाद मिला था मौका

एक समय वीरेन्द्र सहवाग के बाद मुरली विजय भारतीय टेस्ट टीम के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज हुआ करते थे। इस वजह से उन्हें टीम इंडिया का अगला सहवाग भी कहा जाता था, लेकिन अब उन्हें कोई पूछ भी नहीं रहा है। इस वजह से अब उम्मीद जताई जा रही है कि आईपीएल 2022 के बीच में कभी भी मुरली विजय अचानक संन्यास की घोषणा कर सकते हैं, क्योंकि अब उनकी आयु 37 साल से अधिक हो चुकी है।

मुरली विजय का क्रिकेट करियर

मुरली विजय भारतीय टीम के लिए 61 टेस्ट मैचों की 105 पारियों में 38.29 की औसत और 46.3 की स्ट्राइक रेट के साथ 3982 रन बनाए हैं। उस दौरान विजय के बल्ले से 12 शतक और 15 अर्द्धशतक देखने को मिले हैं। उसके बाद मुरली विजय 17 वनडे मैचों में 21.19 की औसत से 339 रन बनाए हैं, जिसमे एक अर्द्धशतक शामिल है। वहीं 9 टी-20 मैचों में उन्होंने 18.78 की औसत से सिर्फ 169 रन बना पाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.