टी-20 विश्व कप के लिए नहीं मिला मौका तो पहुंचा भारत, 17 गेंद में ठोका 86 रन, छक्कों की लगाई बौछाड़, बने पहले ऐसे बल्लेबाज

ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी में अगले महीने टी-20 वर्ल्ड कप खेला जाएगा, जिस के लिए अभी तक कई टीमों ने अपने-अपने खिलाड़ियों की घोषणा कर दी है। इस बार लगभग सभी टीमों में कुछ ना कुछ उलटफेर हुआ है, इस वजह से कई बेहतरीन खिलाड़ियों को मौका नहीं दिया गया है। यही कारण है कि उनके समर्थक चयनकर्ताओं पर निशाना साधते नजर आए हैं।

एश्ले नर्स

टी-20 वर्ल्ड कप 2022 के लिए भारत, पाकिस्तान, वेस्टइंडीज और अफगानिस्तान के अलावे अन्य कई टीमों की घोषणा हो चुकी है। लेकिन आज हम एक ऐसे विदेशी क्रिकेटर के बारे में बात करने जा रहे हैं जिसे टी-20 वर्ल्ड कप के लिए मौका नहीं मिला तो भारत पहुंच गया। फिर तूफानी पारी खेलकर अपने क्रिकेट बोर्ड को सोचने पर मजबूर कर दिया है।

बल्लेबाजी करते समय इस खिलाड़ी के सिर पर लगी गेंद, बीच मैदान पर दर्द से कराहने लगे, फिर बुलानी पड़ी एम्बुलेंस

इस खिलाड़ी खेली तूफानी पारी

भारत लीजेंड्स लीग क्रिकेट 2022 की शुरुआत हो चुकी हैं। इस टूर्नामेंट का पहला मुकाबला शनिवार को इंडिया कैपिटल्स और गुजरात जायंट्स के बीच कोलकाता के ईडन गार्डन में खेला गया। उस मैच में गुजरात की टीम को तीन विकेट से जीत मिली है, जिस वजह से अंक तालिका में उनकी टीम फ़िलहाल पहले स्थान पर मौजूद है।

उस मैच में इंडिया कैपिटल्स टीम के ऑफ ब्रेक गेंदबाज एश्ले नर्स का जलवा देखने को मिला। उस दौरान नर्स को छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने का मौका मिला, फिर उसने तबाही मचाना शुरू कर दिया। उस मैच में नर्स ने 43 गेंदों पर 103 रनों की नॉट आउट पारी खेली है तो चलिए अब जानते हैं कि उन्होंने 17 गेंदों पर 86 रन कैसे बनाए।

एश्ले नर्स ने 17 गेंदों में ठोका 86 रन

एश्ले नर्स उस मुकाबले के दौरान 8 चौका और 9 गगनचुंबी छक्का लगाया है। इस तरह उन्होंने 8 चौके की मदद से 32 और 9 छक्के की सहायता से 54 रन बनाए हैं। अगर हम नर्स के चौके और छक्के को जोड़ देते हैं तो उन्होंने मात्र 17 गेंदों में 86 रन ठोक दिए हैं। इसी वजह से इंडिया कैपिटल्स की टीम पहले बल्लेबाजी करती हुई 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 179 रन बनाने में सफल रही।

एश्ले नर्स ने रचा इतिहास

एश्ले नर्स को उस मुकाबले में छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया था। फिर उन्होंने ताबड़तोड़ अंदाज में बल्लेबाजी करना शुरू कर दिया। इस तरह नर्स टी-20 क्रिकेट में छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए शतक जड़ने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बन गए हैं। इससे अलावा इस स्थान पर खेलते हुए 9 गगनचुंबी छक्के जड़ने वाले विश्व के पहले खिलाड़ी बन गए हैं।

टी-20 विश्व कप के लिए नहीं मिला मौका

एश्ले नर्स वेस्टइंडीज के स्पिन गेंदबाज है, जिन्होंने अपने देश के लिए 54 वनडे और 13 टी-20 मैच खेले हैं। उस दौरान वनडे में उन्होंने 49 तथा टी-20 में सिर्फ 8 विकेट चटकाया है। इस वजह से अब उन्हें वेस्टइंडीज के लिए खेलने का मौका नहीं मिलता है। नर्स अपना अंतिम इंटरनेशनल मैच साल 2019 में खेला था, लेकिन अब उन्होंने अपनी बल्लेबाजी से यह साबित कर दिया है कि वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने कितनी बड़ी गलती की है।

वीरेन्द्र सहवाग की टीम ने इंडिया कैपिटल्स को 3 विकेट से रौंदा, नर्स और ब्रायन ने रचा इतिहास, मैच में बने 10 वर्ल्ड रिकॉर्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *