टी20 वर्ल्ड कप को लेकर ICC का अजीबोगरीब फैसला, अब कोरोना संक्रमित खिलाड़ी भी होंगे विश्व कप का हिस्सा

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप-2022 का आगाज हो चुका है। पिछले साल ये टूर्नामेंट कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण यूएई में आयोजित किया गया था और साथ ही कई नियमों का भी पालन किया गया था, लेकिन इस साल कुछ अलग ही नजारा देखने को मिल रहा है।

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने एक बड़ी घोषणा करते हुए इस बात की पुष्टि की है कि जो खिलाड़ी कोरोना पॉजीटिव पाये जायेंगे, उन्हें भी T20 विश्व कप के मैच खेलने की अनुमति दी जाएगी। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो आईसीसी ने इस घोषणा में कहा  है कि यदि कोई खिलाड़ी COVID-19 का शिकार पाया जाता है, तो प्रतियोगिता या आइसोलेशन के समय के दौरान कोई आवश्यक परीक्षण नहीं होगा। टीम के डॉक्टर मूल्यांकन करेंगे कि क्या वो खिलाड़ी मुकाबला खेलने के लिये उपयुक्त है या नहीं।

खबरों के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया, जो पहले दुनिया के कुछ सबसे कड़े COVID-19 नियमों का इस्तेमाल करता था, इस साल विश्व कप की मेजबानी के लिए काफी छूट बरत रहा है। इस साल की शुरुआत में बर्मिंघम में कटमनवेल्थ गेम्स में भी यही नियम अपनाया गया था।

तब भी कोरोना से संक्रमित खिलाड़ियों को मैच खेलने से रोका नहीं गया था। हालांकि, महामारी शुरू होने के बाद से आयोजित अन्य प्रमुख आयोजनों के लिए उपयोग किए जाने वाले सख्त दिशानिर्देशों को देखते हुए, यह एक महत्वपूर्ण बदलाव का प्रतिनिधित्व करता है कि ICC COVID-19 को कैसे संभालता है।

यदि किसी खिलाड़ी के पीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट पटजीटिव होती है, तब भी टीमें अपने शुरुआती लाइनअप को संशोधित कर सकती हैं। अगर टेस्ट निगेटिव आता है तो संक्रमित खिलाड़ी दोबारा टीम में शामिल हो सकता है।

अगस्त में राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक के खेल की तनावपूर्ण सुबह के दौरान, ऑस्ट्रेलियाई ताहलिया मैकग्राथ कोरोना से पॉजीटिव पायी गयी थी,, लेकिन अंततः उन्हें खेलने की अनुमति दी गई। जब वे बल्लेबाजी करती थी तो वह टीम के साथियों से अलग बैठती थीं और मैदान से बाहर रहते हुए एक मास्क पहनती थीं। हालांकि ऑस्ट्रेलिया द्वारा भारत को हराने के बाद सेलिब्रेशन में वे शामिल हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *