66 गेंदों में ठोका 119 रन, उसके बाद झटके 6 विकेट, लेकिन फिर भी नहीं मिला वर्ल्ड कप के लिए मौका

टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम इन दिनों ऑस्ट्रेलिया में है, क्योंकि इस बार वहीं पर यह टूर्नामेंट खेला जाएगा। इस विश्व कप के लिए दुनिया की कई टीमें ऑस्ट्रेलिया पहुंच चुकी है और इस टूर्नामेंट में अच्छी प्रदर्शन करने के लिए तैयारी में लगी हुई है। इस बार टीम इंडिया के लिए टी20 वर्ल्ड कप जीतना बहुत मुश्किल नजर आ रहा है, क्योंकि भारतीय टीम में बहुत सारी कमियां दिख रही है।

वेंकटेश अय्यर

इंडियन सलेक्टर्स ने टी20 वर्ल्ड कप के लिए कई ऐसे खिलाड़ियों का चयन नहीं किया है जो इसके हकदार थे। इस वजह से बहुत सारे क्रिकेट फैंस बीसीसीआई तथा चयनकर्ताओं की आलोचना करते दिखे हैं। आज हम एक ऐसे खिलाड़ी के बारे में बात करने जा रहे हैं जिन्होंने गेंद और बल्ले दोनों से हमेशा अच्छी प्रदर्शन की है, लेकिन फिर भी विश्व कप के लिए उन्हें टीम में जगह नहीं मिल पाई है।

इस खिलाड़ी ने मचाया धमाल

भारतीय चयनकर्ताओं ने टी20 वर्ल्ड कप के लिए ऐसे कई खिलाड़ियों को मौका नहीं दिया है जो गेंद और बल्ले दोनों से कमाल करने की काबिलयत रखता है। इस टूर्नामेंट में ऐसे खिलाड़ियों की बहुत ज्यादा आवश्यकता पड़ने वाली है। ऐसे में भारत यह विश्व कप में अच्छी प्रदर्शन नहीं कर पाएगा। तो चलिए अब हम एक ऐसे खिलाड़ी के बारे में जानते हैं जिसे टी20 वर्ल्ड कप के लिए मौका नहीं मिला है, लेकिन अब उन्होंने गेंद और बल्ले दोनों से धमाकेदार प्रदर्शन किया है।

हम युवा ऑलराउंडर वेंकटेश अय्यर के बारे में बात कर रहे हैं जो इन दिनों सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में मध्य प्रदेश के लिए खेल रहे हैं। इस टूर्नामेंट में एमपी की टीम अब तक दो मैच खेली है और उन दोनों मुकाबलों में वेंकटेश ने गेंद और बल्ले दोनों से शानदार प्रदर्शन किया है। इस वजह से इन दिनों उनकी खूब तारीफ़ हो रही है।

इस टूर्नामेंट के पहला मुकाबला मध्य प्रदेश की टीम राजस्थान के विरुद्ध खेली थी, जिसमे वेंकटेश अय्यर पहले बल्लेबाजी करते हुए 31 गेंदों पर 62 रनों की पारी खेली थी। उसके बाद गेंदबाजी करतें हुए 4 ओवर में 20 रन देकर 6 विकेट चटकाया था। उसके बाद दुसरे मुकाबले में मुंबई के खिलाफ अय्यर ने 35 गेंदों पर 57 रनों की अच्छी पारी खेली थी।

पहले मुकाबले में वेंकटेश अय्यर 5 चौका तथा 4 गगनचुंबी छक्का लगाया था, उसके बाद दुसरे मैच में 5 चौके के अलावे दो गगनचुंबी छक्के जड़े थे। अगर हम वेंकटेश के दोनों मैचों के रन को जोड़ दें तो उन्होंने सिर्फ 66 गेंदों में 119 रन बनाए हैं। लेकिन फिर भी इंडियन सलेक्टर्स का ध्यान वेंकटेश अय्यर की तरफ नहीं जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *