Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai | गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है?

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है | Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai | Ok Google Gold Fish Ka Scientific Naam Kya Hai | Goldfish Ka Scientific Name Kya Hai | Google Gold Fish Ka Scientific Naam Kya Hai

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? यह प्रश्न लोगों के मन में तब से उठने लगा है जब से यूट्यूब पर इसके बहुत सारे विज्ञापन देखने को मिले हैं। उसी विज्ञापन की वजह से आज लोग इसके बारे में सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, क्योंकि इससे पहले बहुत कम लोगों को इस सवाल के बारे में ख्याल आया होगा।

Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai | गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है?

यूट्यूब पर चलने वाले उस विज्ञापन की वजह से लोग इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानाकारी प्राप्त करना चाहते हैं, क्योंकि बहुत कम लोगों को इस प्रश्न का उत्तर मालूम है। Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai? इसके बारे में स्टूडेंट्स को सबसे पहले मालूम होना चाहिए, क्योंकि कई बार इस तरह के प्रश्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछ दी जाती है।

आगे इस लेख में आपको मालूम चलने वाला है कि गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है, Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai तथा इससे जुड़ी लगभग सभी महत्वपूर्ण सवालों के जवाब।

Table of Contents

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है | Goldfish Ka Scientific Naam Kya Hai

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम Carassius Auratus है जिसे गोल्डन क्रूसीयन कार्प के नाम से भी जाना जाता है। इस मछली की सबसे खास बात यह है कि वो विश्व की टॉप तीन सबसे अधिक सजावटी मछलियों में से एक है। गोल्डफिश की पहचान करना बहुत ही आसान है, क्योंकि वो लाल-नारंगली कलर के होते हैं तो चलिए अब हम पहले इस मछली की कुछ महत्वपूर्ण बातों के बारे में जानते हैं।

गोल्डफिश का साइंटिफिक Carassius Auratus
इसका दूसरा नाम Golden Crucian Carp
गोल्डफिश नाम हिंदी में सुनहरी मछली
गोल्डफिश का लैटिन नाम Carassius Gibelio Forma Auratus
रहने का स्थान मीठा पानी में
इसकी आकर 20 CM अधिकतम
इसकी उत्पत्ति चीन
भोजन शैवाल, कीट तथा लार्वा
संभोग का वक्त अप्रैल तथा मई महीने में
इसकी जाती Carassius

गोल्डफिश क्या है?

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? इसके बारे में आपको जानकारी ऊपर मिल गई होगी। बहुत सारे ऐसे लोग यह भी जानना चाहते होंगे कि गोल्डफिश क्या है? तो मैं आपको बता दूं कि यह एक प्रकार की मछली है जो दिखने में बहुत खूबसूरत होती है तथा यह दुनिया की सबसे अच्छी दिखने वाली मछलियों में से एक है। गोल्डफिश की कई प्रजातियां हैं जिसके बारे में आगे इस लेख में सभी जानकारी दी गई है।

गोल्डफिश को हिंदी में क्या कहा जाता है?

आपने इस लेख में ऊपर में यह जाना कि गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? लेकिन इसे हिंदी में क्या कहते हैं? यह भी आपको जान लेना चाहिए, तो मैं आपको बता दूं कि हिंदी भाषा में गोल्डफिश को सुनहरी मछली कहा जाता है। वहीं लैटिन भाषा में इसे Carassius Gibelio Forma Auratus के नाम से जानते हैं।

गोल्डफिश की उत्पत्ति कहां से हुई?

गोल्डफिश यानी सुनहरी मछली की उत्पत्ति भारत या पाकिस्तान में नहीं बल्कि चीन में हुई थी और यह दुनिया की पहली ऐसी मछली है जिसे पालतू बनाया गया था। इस मछली को पहले चीन के जिंग राजवंश ने पाला फिर बाद उसे छोड़ दिया। उसके बाद वहां के मिंग और किंग राजवंशों ने भी गोल्डफिश का पालन किया।

उसके बाद जब नई चीन की स्थापना की गई फिर वहां के वैज्ञानिकों ने गोल्डफिश यानी सुनहरी मछली की हिफ़ाज़त तथा इसके संतान की अधिक उत्पत्ति करने के लिए बहुत मेहनत की। फिर जब साल 1502 का समय आया तब उस मछली को जापान भेज दिया गया, उसके बाद जापान ने ताइवान की मदद से सुनहरी मछली के विभिन्न प्रजातियों की उत्पन्न कर दी।

उसके बाद गोल्डफिश को 17वीं शताब्दी के दौरान ब्रिटेन, 18वीं शताब्दी में यूरोप तथा साल 1874 में अमेरिका भेजा गया। उस तरह सुनहरी मछली धीरे-धीरे पूरी दुनिया में फैल गई। फिलहाल यह मछली विश्व के लगभग सभी देशों में पाई जाती है, लेकिन इसकी उत्पत्ति चीन में हुई थी।

गोल्डफिश का आकार कितना होता है?

गोल्डफिश यानी सुनहरी मछली को लोग शौक से पालते हैं, क्योंकि इसकी सुंदरता लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करती है। यही कारण है कि गोल्डफिश को पालतू मछली भी कहा जाता है। जहां तक इसकी आकार यानी साइज़ की बात है तो यह अधिकतम 9 इंच का होता है और इससे अधिक यह मछली नहीं बढ़ सकती है।

गोल्डफिश कैसी वातावरण में रहती है?

वैज्ञानिकों की माने तो उनका कहना है कि गोल्डफिश की अधिकतम आयु 6 वर्ष से लेकर 10 वर्षों के बीच में होती है तथा उन्हें उस पानी में रखना चाहिए जिसकी तापमान 15 से लेकर 25 डिग्री सेल्सियस के बीच में हो। यही उस के लिए अनुकूल वातावरण है, अगर पानी की तापमान 25 डिग्री सेल्सियस से अधिक होगी तो सुनहरी मछली की मृत्यु जल्द हो सकती है।

गोल्डफिश की आयु कितनी होती है?

जैसा कि हमने यह ऊपर भी बताया है कि गोल्डफिश की आयु औसतन 6 वर्ष से लेकर 10 वर्षों के बीच में होती है और ऐसा वैज्ञानिकों का मानना है। कुछ साइंटिस्ट यह भी दावा करते हैं कि अगर उन्हें अनुकूल वातावरण लगातार मिले तो गोल्डफिश अधिकतम 40 वर्ष तक भी जीवित रह सकती है।

Goldfish बिना भोजन के कब तक जीवित रह सकती है?

Goldfish यानी सुनहरी मछली बिना कुछ भी खाए अधिकतम 2 हफ्ते तक जीवित रह सकती है। इस वजह से अगर आप यह मछली पालते हैं या पालने के बारे में सोच रहे हैं तो इसका पूरा ख्याल रखें, ताकि गोल्डफिश लंबे समय तक जीवीत रह सके।

Goldfish भोजन में क्या खाती है?

सुनहरी मछली सबसे अधिक समुद्र में पाई जाती है जिस वजह से वो वहां पर मौजूद कीड़े-मकोड़े को खाती है। इसके अलावा यह मछली शाकाहारी भोजन भी करती है जिसमे खीरा, मटर, सेब, केला तथा संतरा जैसे फल शामिल है।

Goldfish कितने प्रकार की होती है?

इस लेख में आपने ऊपर यह जाना कि गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? अब आपके मन में यह सवाल जरुर आया होगा कि Goldfish कितने प्रकार की होती है? तो मैं आपको बता दूं कि सुनहरी मछली कई प्रकार की होती है जिसके बारे में नीचे थोड़ी-थोड़ी जानकारी दी गई है।

1. साधारण गोल्डफिश

साधारण सुनहरी मछली को मूल गोल्डफिश कहा जाता है। इसका शरीर पतला होता है, इसकी मूंछे तथा पंख भी छोटी होती है। यह सुनहरी मछली सबसे अधिक प्रचलित है जिस वजह से अधिकतर लोग इसी मछली को पालना पसंद करते हैं।

2. शुबनकिन गोल्डफिश

शुबनकिन एक ऐसी सुनहरी मछली है जो सामान्य गोल्डफिश की तरह ही होता है। लेकिन उसका कलर कैलिको होता है। शुबनकिन गोल्डफिश सबसे अधिक लंदन में पाई जाती है। इस सुनहरी मछली की भी छोटे पंख, पतला शरीर व छोटी मूंछे होती है।

3. कॉमेट सुनहरी मछली

साधारण गोल्डफिश तथा शुबनकिन गोल्डफिश की तुलना में कॉमेट सुनहरी मछली की पंख बहुत लंबी होती है, वहीं इसका शरीर पतला होता है। यह सुनहरी मछली साधारण गोल्डफिश की तुलना में थोड़ी बड़ी होती है जिसे सबसे अधिक अमेरिका के लोग पालते हैं।

4. अमेरिकी या जापानी शुबनकिन गोल्डफिश

अमेरिकी या जापानी शुबनकिन गोल्डफिश का कलर भी कैलिको होता है। इसका आकार बहुत बड़ा होता है, लेकिन शरीर बहुत पतला होता है। इस वजह से इन मछली को पालने के लिए एक बड़ी तालाब की जरुरत पड़ती है।

5. ब्रिस्टल शुबनकिन गोल्डफिश

ब्रिस्टल शुबनकिन गोल्डफिश की पंख अन्य सुनहरी मछली की तुलना में थोड़ी अधिक चौड़ी होती है। जिस वजह से ब्रिस्टल दूसरे शुबनकिन से थोड़ा अलग है। यह मछली भी कैलिको रंग की होती है तथा इसका शरीर भी पतला होता है।

6. यूकींन गोल्डफिश

यह सुनहरी मछली ऊपर दिए गए सभी गोल्डफिश से अलग है, क्योंकि यूकींन गोल्डफिश के पीठ के ऊपर एक कूबड़ होता है जो बहुत ही कठोर होता है। जिस वजह से यह मछली दिखने में बहुत ही खूबसूरत होता है।

7. टेलीस्कोप गोल्डफिश

टेलीस्कोप गोल्डफिश भी दूसरी सुनहरी मछली से बिल्कुल अलग है, क्योंकि इस मछली की आँख थोड़ी अधिक बड़ी होती है। वहीं इस मछली की पंख कुछ बड़ी तो कुछ छोटी होती है। टेलीस्कोप गोल्डफिश की शुरुआत सन 1700 में चीन से शुरू हुई थी।

गोल्डफिश से संबंधित पूछे जाने वाले प्रश्न व उत्तर (FAQ)

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? इसके साथ-साथ आपको इससे संबंधित कई टॉपिक के बारे में जानकारी मिली है। अब आपके मन में कई तरह के सवाल आ रहे होंगे, इस वजह से हमने सुनहरी मछली से संबंधित नीचे कई सवाल तथा उसके जवाब दिए हैं जिसे आपको अवश्य पढ़ना चाहिए।

Q1: गोल्डफिश कैसे दिखती है?

गोल्डफिश कई प्रकार की होती है और उन सभी का रंग, आकार तथा उसकी नस्लें अलग-अलग होती है।

Q2: गोल्डफिश का असली नाम क्या है बताओ?

गोल्डफिश का असली नाम या साइंटिफिक Carassius Auratus है।

Q3: एक गोल्डफिश बिना कुछ खाए कब तक जीवित रह सकती है?

एक गोल्डफिश बिना कुछ खाए दो सप्ताह तक जीवीत रह सकती है।

Q4: गोल्डफिश की आयु कितनी होती है?

गोल्डफिश औसतन 6 वर्ष से लेकर 10 वर्षों तक जीवीत रह सकती है।

अब इस लेख में आपको मालूम चल गया होगा कि गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है? इसके बारे में हमने विस्तार से बताया है। इस आर्टिकल में हमने गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम के साथ-साथ अन्य कई टॉपिक पर चर्चा किया है जिसके बारे में पढ़कर आपको अच्छा जरुर लगा होगा। अब आप इस लेख को अधिक से अधिक शेयर कर दीजिए ताकि और भी लोगों को इसकी जानकारी मिल सके।

इस लेख को भी पढ़िए :-

डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करें?

करेला को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

हिंदी को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *