पूर्व गेंदबाज श्रीसंत ने बताया क्यों संजु सैमसन को नहीं मिल रहा टीम इंडिया में मौका, कहा “आपको ऐसा करना होगा”

अगले महीने ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप के लिये टीम इंडिया के स्क्वाड में संजू सैमसन का नाम न होने की वजह से उनके फैंस ने बीसीसीआई के प्रति काफी नाराजगी व्यक्त की है।

जहां एक ओर, कुछ लोगों का मानना है कि संजू सैमसन को टी20 मुकाबलों के लिये मौका ना देकर उनके साथ नाइंसाफी की जा रही है, वहीं भारत के पूर्व तेज गेंदबाज और दो बार वर्ल्ड कप विजेता रही टीम इंडिया के सदस्य रह चुके श्रीसंत का मानना है कि सिर्फ आईपीएल के आधार पर उन्हें वीरता प्राप्त नहीं होगी। श्रीसंत का कहना है कि सैमसन को केरल लौटना होगा और अपनी राज्य टीम के लिये खेलना होगा।

बता दें कि आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की कमान संभालने वाले संजु सैमसन ने अपना आखरी फर्स्ट क्लास मैच 2019 में खेला था, जब केरेला ने गुजरात को मात दी थी। श्रीसंत ने आगे कहा कि “उसे सुसंगत होना होगा। देखिए, हर कोई आईपीएल की बात कर रहा है। मैं केरल से हूं, मैं ऐसा व्यक्ति हूं, जिसने हमेशा उनका समर्थन किया है”।

मीडिया से बात करते हुए श्रीसंत ने आगे कहा “मैंने उसे U14 से खेलते हुए देखा है। वह मेरे अंडर खेला है। वास्तव में, मैं ही था जिसने उन्हें रणजी ट्रॉफी में पदार्पण के लिए टोपी दी थी। लेकिन जिस तरह से मैं उसे देखता हूं, उससे एक अनुरोध है कि उसे प्रथम श्रेणी मैचों में प्रदर्शन करना शुरू करना होगा”।

पूर्व दिग्गज गेंदबाज ने कहा “हां, आईपीएल बहुत महत्वपूर्ण है। आईपीएल उन्हें दुनिया भर में प्रसिद्धि, लोकप्रियता और धन, सब कुछ देगा, लेकिन किसी भी क्रिकेटर के लिए मेरे मन में यह प्रबल भावना है कि उन्हें राज्य की ओर से, विशेष रूप से प्रथम श्रेणी क्रिकेट में बहुत अच्छा प्रदर्शन करना शुरू करना होगा। संजू को बाहर आकर प्रथम श्रेणी मैचों में प्रदर्शन करना है। सिर्फ शतक नहीं, 200 का स्कोर बनाएं। आएं और केरल की टीम को रणजी ट्रॉफी दिलाएं! केरल की टीम को विजय हजारे ट्रॉफी दिलाएं। फिर, केरल के क्रिकेटर शीर्ष पर आएंगे”।

गौरतलब है कि केरल में जन्मे विकेटकीपर-बल्लेबाज संजू सैमसन इस साल आईपीएल के बाद भारत की तरफ से कई टी20 इंटरनेशनल सीरीज का हिस्सा रहे हैं, लेकिन प्लेइंग 11 में उन्हें कम ही जगह मिली। साउथ अफ्रीका के खिलाफ गत जून महीने में पांच T20I मुकाबलों में से सैमसन को एक की भी प्लेइंग 11 में मौका नहीं मिला, जबकि आयरलैंड के खिलाफ दो में से महज 1 टी20 मैच में उन्हें खिलाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *