दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है? देखें टॉप-10 की सूची

दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है | Duniya Ki Sabse Unchi Building Kaun Si Hai | दुनिया में सबसे बड़ी बिल्डिंग कौन है | दुनिया की 10 सबसे ऊंची इमारतें | दुनिया की सबसे बड़ी बिल्डिंग कौन सी है | वर्तमान में दुनिया की सबसे ऊंची इमारत कौन सी है?

इस धरती पर बड़ी-बड़ी इमारतों की कोई कमी नहीं है, लेकिन उनमें से सबसे बड़ी इमारत कौन सी है इसके बारे में हर किसी को मालूम नहीं होगा। इसी वजह से आज हम इस आर्टिकल में यह बताने वाले हैं कि दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है? जिन लोगों को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है उनके मन में कई तरह के सवाल आते होंगे, लेकिन इस लेख को पूरा पढ़ने के बाद आपके मन के बहुत सारे सवाल दूर हो जाएंगे।

दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है?

अधिकतर लोग यह सोचते होंगे कि दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग यानी भवन अमेरिका जैसे देशों में होगा। क्योंकि वो विश्व की सबसे अधिक शक्तिशाली देशों में से एक हैं, लेकिन इस मतलब यह नहीं कि अमेरिका दुनिया की सबसे अधिक शक्तिशाली देश है तो वहीं पर सबसे ऊंची बिल्डिंग होगी। एक समय ऐसा था, जब दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग अमेरिका में मौजूद था। लेकिन यह रिकॉर्ड टूट चुका है, फिलहाल यह रिकॉर्ड UAE के पास है।

तो चलिए अब हम आपको यह बताते हैं कि दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है?, Duniya Ki Sabse Unchi Building Kaun Si Hai, वर्तमान में दुनिया की सबसे ऊंची इमारत कौन सी है?

दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है?

विश्व की सबसे ऊंची बिल्डिंग या इमारत United Arab Emirates (UAE) में मौजूद है जिसका नाम बुर्ज ख़लीफ़ा है। यह इमारत यूएई देश के दुबई शहर में स्थित है जिसकी ऊंचाई 829.8 मीटर है। अगर हम इसे फीट में कन्वर्ट करें तो बुर्ज ख़लीफ़ा 2,716 फीट का है जिस वजह से यह दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग है।

बुर्ज ख़लीफ़ा में टोटल 163 फ्लोर हैं, इसके अलावा यह भवन 124 मंजिल का है जिस पर चढ़ने के लिए सिर्फ दो मिनट का समय लगता है। क्योंकि इस बिल्डिंग में जिस लिफ्ट का इस्तेमाल किया गया है, वो 65 किलोमीटर की रफ़्तार से चलती है, साथ ही यह दुनिया की सबसे तेज गति से चलने वाली लिफ्ट है।

बुर्ज ख़लीफ़ा के 124वें मंजिल पर अवलोकन डेक भी दिया गया है जो खासकर पर्यटकों के लिए बनाया गया है। जो पर्यटक यहां पर आते हैं वो टेलिस्कोप की मदद से दुबई शहर को देखते हैं। इन्ही सब कारणों की वजह से यह बिल्डिंग दुनिया में बहुत ज्यादा चर्चित है।

बुर्ज ख़लीफ़ा के मालिक एमार प्रॉपर्टीज का ओनर Mohamed Alabbar है। इस बिल्डिंग को बनाने का काम 6 जनवरी 2004 से शुरू किया गया था, जिसे पूरा कम्पलीट होने में 6 वर्ष का समय लग गया था। वहीं 4 जनवरी 2010 को इसे आम लोगों के लिए चालू कर दिया गया था।

बुर्ज ख़लीफ़ा को बनाने में 1.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर का खर्चा लगा था। शुरुआत में इस भवन का नाम बुर्ज दुबई रखे जाने की बात चल रही थी, लेकिन इस बिल्डिंग को बनाने में पैसों की कमी पड़ गई। उसके बाद यूएई के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान ने इस भवन को तैयार करने के लिए आर्थिक मदद की थी। जिस वजह से इस भवन का नाम बुर्ज ख़लीफ़ा रख दिया गया।

बुर्ज ख़लीफ़ा का प्रारूप Adrian Smith, Marshall Strabala तथा George J. Efstathiou ने तैयार किया था। इतनी बड़ी बिल्डिंग को बनाने का ठेका Samsung C&T Corporation, Laing O’Rourke तथा Turner Construction ने लिया था। इन्ही तीनों ने मिलकर इतनी बड़ी भवन का निर्माण किया था।

दुनिया की 10 सबसे ऊंची इमारतें या बिल्डिंग

बुर्ज ख़लीफ़ा के अलावे दुनिया में बहुत सारी ऐसी भवन हैं जो बहुत ज्यादा ऊंची है, लेकिन उनमे से अधिकतर के बारे में लोगों को कुछ भी जानकारी नहीं है। इस वजह से अब हमने आगे इस लेख में दुनिया की टॉप-10 सबसे ऊंची इमारतें या बिल्डिंग के बारे में बताया है।

1. बुर्ज ख़लीफ़ा (Burj Khalifa)

जैसा कि आपको इस लेख में ऊपर बुर्ज ख़लीफ़ा के बारे में लगभग पूरी जानकारी मिल गई होगी। इस बिल्डिंग की ऊंचाई 2,716 फीट यानी 828 मीटर की है जिसका नाम संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति Khalifa Bin Zayed Al Nahyan के नाम पर रखा गया है। ऐसा इसलिए किया गया, क्योंकि जब इस भवन को बनाया जा रहा था, उस समय पैसों की कमी पड़ गई थी। फिर खलीफा बिन जायद अल नाहयान ने आर्थिक मदद की थी।

2. शंघाई टावर (Shanghai Tower)

दुनिया की दूसरी सबसे ऊंची बिल्डिंग का नाम शंघाई टावर है जो चीन में स्थित है। इस इमारत की ऊंचाई 2,073 फीट यानी 632 मीटर है। यह बिल्डिंग सर्कुलर कोर से 120 डिग्री का घुमावदार है। शंघाई टावर के लागत की बात करें तो इसे बनाने के लिए 2.4 अरब डॉलर खर्च हुए थे। इस इमारत को बनाने का काम 1 नवंबर 2008 से चालू किया गया था और 2 सितम्बर 2014 को बनकर तैयार हो गया था। वहीं इसे 2 फरवरी 2015 को आम लोगों के लिए ओपन कर दिया गया था।

3. मक्का रॉयल क्लॉक टावर (Makkah Clock Royal Tower)

मक्का रॉयल क्लॉक टावर विश्व की तीसरी सबसे ऊंची बिल्डिंग हैं जो सऊदी अरब के मक्का शहर में स्थित है। इस इमारत की ऊंचाई 1,972 फीट यानी 601 मीटर का है, जिसे बनाने में 15 बिलियन अमेरिकी डॉलर खर्च हो गए थे। इस बिल्डिंग को बनाने का काम साल 2004 में शुरू किया गया था और यह साल 2012 में बनकर तैयार हो गया था। फिर वर्ष 2012 में ही इस माकन को चालू कर दिया गया था।

4. वन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर (One World Trade Center)

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर विश्व की चौथी सबसे ऊंची बिल्डिंग है जो अमेरिका के न्यू यॉर्क शहर में मौजूद है। इस भवन की ऊंचाई 1,776 फीट यानी 541 मीटर है, जिसे तैयार करने में 3.9 बिलियन अमेरिकी डॉलर खर्च हुए थे। इस भवन में टोटल 104 फ्लोर मौजूद है। वन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर को बनाने का कार्य 27 अप्रैल 2006 को चालू किया गया था और 10 मई 2013 को बनकर तैयार हो गया था। उसके बाद 29 मई 2015 को इसे आम लोगों के लिए खोल दिया गया।

5. ताइपे 101 (Taipei 101)

दुनिया की पांचवीं सबसे ऊंची बिल्डिंग का नाम ताइपे 101 है जो ताइवान में स्थित है। इस बिल्डिंग की ऊंचाई 1,667 यानी 509 मीटर है और इसे तैयार करने में 1.8 बिलियन अमेरिकी डॉलर का खर्चा आया था। विश्व की पांचवीं सबसे ऊंची भवन ताइपे 101 में टोटल 101 फ्लोर है जिसमे अधिकतर ऑफिस मौजूद है। इस इमारत को बनाने का कार्य 31 जुलाई 1999 को शुरू कर दिया गया था और 14 नवंबर 2003 को बनकर तैयार हो गया था।

6. शंघाई वर्ल्ड फाइनेंशियल सेंटर (Shanghai World Financial Center)

शंघाई वर्ल्ड फाइनेंशियल सेंटर चीन की बिल्डिंग है जो वर्तमान में दुनिया छठी सबसे ऊंची इमारत है। इस भवन की ऊंचाई 1,614 यानी 492 मीटर है। शंघाई वर्ल्ड फाइनेंशियल सेंटर को बनाने का काम साल 1997 में शुरू किया गया था और साल 2008 में बनकर तैयार हो गया था। इसे तैयार करने के लिए 1.20 बिलियन डॉलर का खर्च आया था।

7. इंटरनैशनल कॉमर्स सेंटर (International Commerce Centre)

इंटरनैशनल कॉमर्स सेंटर को अन्तर्राष्ट्रीय वाणिज्य केन्द्र भी कहा जाता है। वर्तमान में यह विश्व की सातवीं सबसे ऊंची भवन है। इसकी ऊंचाई 1,588 फीट यानी 484 मीटर है। इस भवन को बनाने का कार्य साल 2002 में चालू किया गया था और साल 2010 में बनकर तैयार हो गया था। इंटरनैशनल कॉमर्स सेंटर को पूरा कम्पलीट होने में 3.85 बिलियन डॉलर खर्च हुआ था।

8. पेट्रोनस ट्विन टावर 1 (Petronas Twin Towers 1)

पेट्रोनस ट्विन टावर 1 मलयेशिया के कुआला लंपुर में स्थित है। इस बिल्डिंग की ऊंचाई 1,483 फीट यानी 452 मीटर है। इस इमारत को बनाने का कार्य साल 1993 में प्रारंभ किया गया था और साल 1996 में बनकर तैयार हो गया था। पेट्रोनस ट्विन टावर 1 को बनाने में 1.6 अरब अमेरिकी डॉलर खर्च हुआ था।

9. पेट्रोनस ट्विन टावर 2 (Petronas Twin Towers 2)

पेट्रोनस ट्विन टावर 2 भी मलयेशिया के कुआला लंपुर में ही मौजूद है। इस भवन की ऊंचाई भी 1,483 फीट यानी 452 मीटर है। इसे बनाने के लिए भी साल 1993 में शुरू किया गया था और साल 1996 में बनकर तैयार हो गया था। पेट्रोनस ट्विन टावर 2 को बनाने में भी 1.6 अरब अमेरिकी डॉलर खर्च हुआ था। पेट्रोनस ट्विन टावर 1 और पेट्रोनस ट्विन टावर 2 को पेट्रोनास जुड़वा मीनार के नाम से जाना जाता है।

10. जिफेंग टावर (Zifeng Tower)

जिफेंग टावर नाम का बिल्डिंग चीन के नानजिंग शहर में मौजूद है। इस इमारत की ऊंचाई 1,476 फीट यानी 450 मीटर है। जिफेंग टावर को बनाने का कार्य साल 2004 में शुरू किया गया था और 6 साल बाद साल 2010 में बनकर तैयार हो गया था। इस बिल्डिंग को बनाने में तकरीबन 77 करोड़ अमेरिकी डॉलर खर्च हुए थे।

अब आपको यह अच्छी तरह समझ में आ गया होगा कि दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है? इसके अलावा हमने दुनिया की 10 सबसे ऊंची इमारतों के बारे में भी बताया है। उस दौरान आपने इस सूची में देखा होगा कि टॉप-10 में अमेरिका का सिर्फ एक बिल्डिंग मौजूद है जिसका नाम वन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर है। इसके अलावे जितनी भी बिल्डिंग हैं वो सब एशिया में ही मौजूद है, लेकिन इस चीज पर अमेरिका काम कर रहा है। इस वजह से उम्मीद की जा रही है कि आने वाले समय में दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग अमेरिका में होगी।

इससे जुड़ी कुछ सवाल और जवाब (FAQ)

नीचे हमने बिल्डिंग तथा इमारत से संबंधित कई सवालों के जवाब दिए हैं जिसके बारे में बहुत सारे लोग नहीं जानते होंगे। इस वजह से आप भी उसे अवश्य पढ़िए, हो सकता है उसमे कुछ प्रश्न का उत्तर आप पहले से ना जानते हो।

1. वर्तमान में दुनिया की सबसे ऊंची इमारत कौन सी है?

वर्तमान में दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज ख़लीफ़ा है।

2. बुर्ज ख़लीफ़ा की कितनी ऊंची बिल्डिंग है?

बुर्ज ख़लीफ़ा 828 मीटर ऊंची बिल्डिंग है।

3. बुर्ज ख़लीफ़ा कब बनकर तैयार हुआ?

बुर्ज ख़लीफ़ा को बनने में 6 साल लगा और साल 2010 में बनकर तैयार हो गया।

4. बुर्ज ख़लीफ़ा का मालिक कौन है?

बुर्ज ख़लीफ़ा के मालिक एमार प्रॉपर्टीज का ओनर Mohamed Alabbar है।

5. बुर्ज ख़लीफ़ा बनाने में कितना खर्चा लगा था?

बुर्ज ख़लीफ़ा को बनाने में 1.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर का खर्चा लगा था।

इसे भी पढ़िए :-

बॉलीवुड और हॉलीवुड में क्या अंतर है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *