भारत में कुल कितने धर्म है? देखें सभी धर्मों की सूची व जनसंख्या

भारत में कुल कितने धर्म है | Bharat Me Kul Kitne Dharm Hai | हिंदुस्तान में कितने धर्म हैं | How Many Religions in India in Hindi | भारत में सबसे पुराना धर्म कौन सा है | भारत में कौन सा धर्म ज्यादा है

भारत एक धर्म निरपेक्ष देश है जहां पर सभी धर्मों के लोगों को रहने की पूरी आजादी है। इस वजह से कई बार बहुत सारे लोगों के मन में सवाल उठता होगा कि भारत में कुल कितने धर्म है? इंडिया में हर किसी को अपने-अपने धर्म का प्रचार-प्रसार करने तथा उसके सभी त्योहार मनाने का पूरा अधिकार है। हिंदुस्तान में सभी धर्मों के धर्मगुरुओं को अपने-अपने रिलीजन का प्रचार करते हुए देखा जाता है, क्योंकि देश के आम जनता से अधिक धर्मगुरुओं को इसके बारे में ज्यादा जानकारी होती है।

भारत में कुल कितने धर्म है?

हिंदुस्तान में अलग-अलग धर्म के मानने वाले लोग रहते ही है, इसके अलावे कुछ ऐसे लोग भी हैं जो किसी धर्म को नहीं मानते हैं वैसे लोगों को नास्तिक कहा जाता है। लेकिन इंडिया की अधिकतर आबादी किसी ना किसी रिलीजन पर विश्वास करती है। अगर हम पूरी दुनिया की बात करें तो 300 से भी अधिक धर्म के मानने वाले लोग हैं, लेकिन उनमे से कुछ ही ऐसे रिलीजन हैं जिनकी जनसंख्या सबसे ज्यादा है तथा अधिक लोकप्रिय भी हैं।

तो चलिए अब हम धर्म से जुड़ी कई सवालों के बारे में जानते हैं जैसे – भारत में कुल कितने धर्म है, Bharat Me Kul Kitne Dharm Hai, हिंदुस्तान में कितने धर्म हैं | How Many Religions in India in Hindi, भारत में सबसे पुराना धर्म कौन सा है, भारत में कौन सा धर्म ज्यादा है |

भारत में कुल कितने धर्म है?

इस समय भारत में 7 ऐसे धर्म हैं जो सबसे अधिक लोकप्रिय है। हिंदुस्तान की जनसंख्या फिलहाल 137 करोड़ से अधिक है जिसमे 7 अलग-अलग रिलीजन के मानने वाले लोग है। इनमे से किसी धर्म की जनसंख्या अधिक तो किसी की बहुत कम है, लेकिन वो सब इस देश में मिलकर रहते हैं।

भारत में जितने भी सात धर्म के लोग रहते हैं वो इस प्रकार है – हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, बौद्ध, जैन तथा पारसी। अगर हम इन रिलीजन के धर्मगुरुओं की माने तो उन सबका यही कहना है कि मानव कल्याण के लिए उनके धर्म की स्थापना की गई है। इस धरती पर नास्तिक की संख्या कम है, लेकिन अधिकतर आबादी कोई ना कोई धर्म को अवश्य मानते हैं।

भारत में रहने वाले 7 धर्म के लोग इस प्रकार है :-

हमने ऊपर भी बताया है कि भारत में टोटल 7 धर्म के मानने वाले लोग रहते हैं, लेकिन इसके बारे में ऊपर विस्तार से नहीं बताया है। इस वजह से आगे हमने उन सातो धर्म के बारे में थोड़ा सा विस्तार से बताया है ताकि उन सभी रिलीजन के बारे में आपको पूरी जानकारी मिल सके।

1. हिन्दू या सनातन धर्म

जब भी भारत में किसी रिलीजन को लेकर बात होती है तब उसमे हिन्दू धर्म का नाम सबसे ऊपर होता है, क्योंकि हिंदुस्तान में हिन्दू की आबादी सबसे अधिक है। हिन्दू धर्म ही सनातन धर्म है जिसकी स्थापना भारत में हुई है। अगर हम सरकारी आंकड़ों की मानें तो भारत में तकरीबन 80 प्रतिशत लोग हिन्दू धर्म के मानने वाले लोग हैं यह आंकड़ा साल 2011 में हुई गणना के अनुसार है। वर्तमान में सनातन धर्म को मानने वाले कुछ लोग दुनिया के अलग-अलग देशों में भी रहते हैं, लेकिन इसकी अधिकतर आबादी भारत में ही है।

2. इस्लाम या मुस्लिम धर्म

भारत में इस्लाम यानी मुस्लिम धर्म के मानने वाले लोगों की संख्या हिन्दू के बाद दूसरे स्थान पर है। इस्लाम धर्म की स्थापना 610 इस्वी में हजरत मुहम्मद ने की थी, जिस वजह से इन्हें इस्लाम धर्म का संस्थापक कहा जाता है। मुस्लिम धर्म की मानें तो 610 इस्वी में मक्का के पास मौजूद हीरा नाम की गुफा में ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। उसके बाद से दुनिया में इस्लाम धर्म की जनसंख्या में लगातार वृद्धि होती गई। भारत में इस समय इस्लाम या मुस्लिम धर्म की आबादी 15 प्रतिशत से अधिक है।

3. ईसाई या क्रिश्चियन धर्म

हिन्दू तथा मुस्लिम धर्म के बाद भारत में किसी की जनसंख्या सबसे अधिक है तो वो ईसाई धर्म के मानने वाले लोग हैं। ईसाई को क्रिश्चियन के नाम से भी जाना जाता है, यह रिलीजन यहूदी धर्म से ही निकला है। ईसाई धर्म के संस्थापक का नाम ईसा मसीह है तथा उनका धार्मिक ग्रंथ बाइबिल है। ईसाई धर्म के अनुयायियों का कहना है कि ईसा मसीह का जन्म जेरूसलम के नजदीक बैथलेहम में हुआ था। इस धर्म के बारे में कहा जाता है कि भारत में इसकी स्थापना 6वीं शताब्दी के दौरान हुई थी। अगर पूरी दुनिया की बात करें तो ईसाई रिलीजन को मानने वाले लोगों की संख्या सबसे अधिक है।

5. बौद्ध धर्म

भारत में बौद्ध धर्म को मानने वाले लोगों की संख्या फिलहाल सिर्फ एक प्रतिशत है, लेकिन पूर्वी एशिया महाद्वीप में इस रिलीजन के अनुयायी बड़ी संख्या में है। इस धर्म की स्थापना गौतम बुद्ध ने की थी। बौद्ध धर्म की मान्यताओं के अनुसार गौतम बुद्ध का जन्म वैशाख शुक्ल की पूर्णिमा के दिन हुआ था, उसके बाद उसी दिन उन्हें ज्ञान प्राप्त हुआ था और उनकी मृत्यु भी उसी दिन हुई थी। यही कारण है कि इस दिन बौद्ध धर्म के लोग बुद्ध जयंती और निर्वाण दिवस के रूप में मनाते हैं।

6. जैन धर्म

हिंदुस्तान में जैन धर्म के लोग भी रहते हैं, लेकिन यहां पर इनकी जनसंख्या तकरीबन 43 लाख के आसपास है। यह आंकड़ा साल 2011 में हुए जनगणना के अनुसार है। जैन धर्म दुनिया की सबसे प्राचीन धर्मों में से एक है, इस रिलीजन के संस्थापक ऋषभ देव को मना जाता है, क्योंकि ये इनके पहले पहले तीर्थंकर थे। जैन धर्म की जनसंख्या पूरी दुनिया में सबसे अधिक भारत में ही है।

7. पारसी धर्म

पारसी धर्म के मानने वालों की संख्या वैसे तो पूरी दुनिया में मौजूद है, लेकिन किसी एक देश की बात करें तो भारत में इनकी सबसे अधिक आबादी है। साल 2011 के जनगणना के अनुसार उस समय भारत में पारसी धर्म के मानने वालों की टोटल संख्या तकरीबन 70 हजार के आसपास थी। अब इस आंकड़े में बहुत इजाफा हुआ होगा।

अब हमने उन 7 धर्मों के बारे में बता दिया है जिसकी जनसंख्या भारत में सबसे अधिक है तथा वो सभी इंडिया में सबसे ज्यादा लोकप्रिय भी है। वहीं भारत में 7 लाख से अधिक ऐसे लोग भी रहते हैं जो किसी धर्म को नहीं मानते हैं यानी वो नास्तिक हैं। इस लेख में हमने जो आंकड़ा बताया है वो सब के सब साल 2011 के जनगणना के अनुसार है।

उम्मीद करता हूं कि आपको यह लेख भारत में कुल कितने धर्म है? के बारे में जानकर अच्छा लगा होगा। क्योंकि हमने इस आर्टिकल में Bharat Me Kul Kitne Dharm Hai इसके बारे में आसान भाषा में बताया है। भारत में फिलहाल सबसे अधिक हिन्दू धर्म के लोग रहते हैं, वहीं इस धरती पर ईसाई धर्म के अनुयायी सबसे अधिक है।

धर्म से जुड़ी कुछ सवाल व उसके जवाब (FAQ)

इस लेख से जुड़ी कुछ लोगों के मन में बहुत सारे सवाल आ रहे होंगे, इसलिए हमने नीचे इससे संबंधित कुछ सवाल तथा उसके जबाब दिए हैं। उसे आप अवश्य पढ़िए, ताकि उन सवालों के जवाब भी आपको मिल सके, जिसके बारे में शायद आपको पहले से कोई जानकारी ना हो।

1. भारत में कुल कितने धर्म मौजूद है?

भारत में कुल 7 धर्म मौजूद हैं।

2. भारत में सबसे पुराना धर्म कौन सा है?

हिन्दू या सनातन धर्म भारत के साथ दुनिया का सबसे पुराना धर्म है।

3. भारत में कौन सा धर्म ज्यादा है?

भारत में हिन्दू या सनातन धर्म के लोग सबसे अधिक है। साल 2011 जनगणना के अनुसार हिन्दुसन में 80 करोड़ से अधिक लोग हिन्दू धर्म को मानते हैं।

4. भारत में मुस्लिम कितने परसेंट है?

साल 2011 में हुए जनगणना के अनुसार भारत में 14.2 प्रतिशत लोग मुस्लिम धर्म के मानने वाले हैं।

5. कौन सा धर्म विज्ञान के करीब है?

सनातन धर्म विज्ञान के सबसे करीब है, क्योंकि इसके धर्म ग्रंथ वेद में विज्ञान समाहित है।

इसे भी पढ़िए :-

दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग कौन सी है?

बॉलीवुड और हॉलीवुड में क्या अंतर है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *