2021 में भारत की जनसंख्या कितनी है | Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

भारत की जनसंख्या कितनी है 2021 में | Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai | भारत की जनसंख्या 2011 के अनुसार कितनी है |

भारत की चर्चा पूरी दुनिया में होती है, क्योंकि हिंदुस्तान में हर तरह के लोग रह रहे हैं। इस वजह से भारत विश्व की सबसे बड़ी धर्मनिरपेक्ष देश है। इंडिया की आबादी को लेकर पूरी दुनिया में बात होती है, क्योंकि हिंदुस्तान की जनसंख्या काफी तेजी से बढ़ रही है। इसी वजह से आज के इस लेख में हम बताने वाले हैं कि भारत की जनसंख्या कितनी है? 2021 में।

भारत की जनसंख्या कितनी है?

भारत में 28 राज्य तथा 8 केंद्र शासित प्रदेश है, इसके अलावे टोटल 742 जिले हैं। इससे आप अंदाज लगा सकते हैं कि देश की जनसंख्या में कितनी तेजी से वृद्धि हो रही है। फिलहाल भारत आबादी के मामले में चीन के बाद दूसरे स्थान पर है, लेकिन इसकी बढ़ोतरी को देखते हुए ऐसा प्रतीत हो रहा है कि आने वाले अलगे कुछ सालों में भारत दुनिया की सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश बन सकता है। तो चलिए अब जानते हैं कि फिलहाल Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai

इस आर्टिकल में आगे आपको भारत की जनसंख्या से जुड़ी कई महत्वपूर्ण टॉपिक के बारे में जानकारी मिलने वाला है जिसमे भारत की जनसंख्या कितनी है? 2021 में, Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai तथा भारत की जनसंख्या 2011 के अनुसार कितनी है?

भारत की जनसंख्या कितनी है? 2021 में

जनसंख्या के मामले में भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश है और इस मामले में पहले चीन का नाम आता है। साल 20221 में भारत की कुल जनसंख्या 1,395,716,635 यानी 139 करोड़ 57 लाख 16 हजार 635 है। इंडिया की आबादी का यह आंकड़ा Worldometer के अनुसार है। यह आंकड़ा तब का है जब मैं यह लेख लिख रहा हूं तब का है।

दुनिया में ऐसी बहुत सारी संस्था हैं जो विश्व के अलग देशों-देशों की जनसंख्या नजर रख रही है, इसके अलावे वो सभी देशों की आबादी के बारे में बताती है। उसी में से Worldometer भी एक है। इन संस्थाओं का मानना है कि आने वाले कुछ वर्षों में भारत जनसंख्या के क्षेत्र में चीन को पीछे छोड़कर आगे निकल जाएगी। वर्तमान में चीन की आबादी 144 करोड़ है।

भारत की आबादी प्रत्येक वर्ष तकरीबन 18 प्रतिशत दर से बढ़ती जा रही है। अगर अभी से 10 वर्ष पहले की बात करें तो उस समय भारत की जनसंख्या दर करीब 22 प्रतिशत थी। यह असर देश की बढ़ती शिक्षा और लोगों के बीच होने वाली जागरूकता का नतीजा है, लेकिन फिर भी 18 प्रतिशत कम नहीं है।

भारत सरकार इस जनसंख्या में और भी कमी लाना चाहती है, इस के लिए देश में कई बार जनसंख्या नियंत्रण कानून की बात हो चुकी है। लेकिन देखना होगा कि यह कानून देश में लागू कब किया जाता है, क्योंकि जब भी इसकी चर्चा होती है तब विपक्षी पार्टी इस बीच में अर्चन पैदा करने लगते हैं। अगर भारत में यह कानून जल्द से जल्द लागू नहीं किया जाता है तो आगे चलकर बहुत सारी समस्याएं देखने को मिल सकती है।

भारत की जनसंख्या 2011 के अनुसार कितनी है?

भारत में पहली बार जनगणना साल 1951 में हुआ था और उस समय देश की जनसंख्या 36 करोड़ थी। अगर साल 2011 में हुई जनगणना के अनुसार बात करें तो उस समय भारत की कुल आबादी टोटल 121 करोड़ थी, लेकिन पिछले दस सालों में देश की जनसंख्या में 18 करोड़ से अधिक की बढ़ोतरी हुई है।

2021 में भारत के सभी राज्यों की जनसंख्या

ऊपर आपको यह मालूम चल गया होगा कि भारत की जनसंख्या कितनी है? अब आपको नीचे यह मालूम चलने वाला है कि भारत के किस राज्य की जनसंख्या कितनी है। इसके बारे में जानने के लिए नीचे दी गई टेबल को ध्यान से पढ़िए :-

क्र.सं. राज्य जनसंख्या 
01 अरुणाचल प्रदेश 17 लाख 11 हजार
02 बिहार 12 करोड़ 70 लाख
03 असम 3 करोड़ 40 लाख
04 हरियाणा 2 करोड़ 74 लाख
05 आंध्र प्रदेश 5 करोड़ 46 लाख
06 हिमाचल प्रदेश 74 लाख 51 हजार
07 गुजरात 6 करोड़ 48 लाख
08 मध्य प्रदेश 8 करोड़ 68 लाख
09 छत्तीसगढ़ 3 करोड़
10 गोवा 16 लाख
11 केरल 3 करोड़ 58 लाख
12 महाराष्ट्र 11 करोड़ 24 लाख
13 झारखंड 3 करोड़ 90 लाख
14 कर्नाटक 6 करोड़ 84 लाख
15 नागालैंड 23 लाख
16 ओड़िशा 4 करोड़ 68 लाख
17 मणिपुर 3 करोड़ 10 लाख
18 मिज़ोरम 12 लाख 40 हजार
19 राजस्थान 8 करोड़ 24 लाख
20 मेघालय 34 लाख 40 हजार
21 तमिलनाडु 7 करोड़ 88 लाख
22 पश्चिम बंगाल 9 करोड़ 14 लाख
23 तेलंगाना 3 करोड़ 99 लाख
24 उत्तर प्रदेश 24 करोड़ 10 लाख
25 सिक्किम 6 लाख 58 हजार
26 उत्तराखंड 1 करोड़ 14 लाख
27 त्रिपुरा 42 लाख
28 पंजाब 3 करोड़ 49 लाख
क्र.सं. केंद्र शासित प्रदेश  जनसंख्या 
01 जम्मू कश्मीर 1 करोड़ 36 लाख
02 चण्डीगढ़ 11 लाख 69 हजार
03 लक्षद्वीप 65 लाख
04 अंडमान निकोबार 4 लाख 1 हजार
05 दादरा नगर हवेली 4 लाख 66 हजार
06 दिल्ली 3 करोड़ 50 लाख
07 लद्दाख 2 लाख 97 हजार
08 पुडुचेरी 8 लाख 56 हजार

भारत में धर्मों के आधार पर जनसंख्या

दुनिया के कुछ संस्थाओं के अनुसार वर्तमान में भारत की जनसंख्या एक बिलियन 39 करोड़ से ज्यादा है। अब हमने नीचे टेबल में धर्मों के आधार पर भारत की जनसंख्या बताया है। नीचे टेबल में जो आंकड़ा दी गई है वो साल 2011 में हुई जनगणना के अनुसार है। उस हिसाब से आप वर्तमान का अंदाजा लगा सकते हैं।

क्र.सं. धर्म  जनसंख्या 2011 के अनुसार
01 हिन्दू 79.8 प्रतिशत
02 मुस्लिम (इस्लाम) 14.23 प्रतिशत
03 ईसाई 2.3 प्रतिशत
04 सिख 1.72 प्रतिशत
05 जैन 0.37 प्रतिशत
06 अन्य 1.58 प्रतिशत

भारत की आबादी से जुड़ी सवाल व जवाब (FAQ)

हम अच्छी तरह जानते हैं भारत की आबादी को लेकर हर किसी की सोच अलग-अलग हो सकती है, इसके अलावे उनके मन में तरह-तरह के सवाल भी आते होंगे। इस वजह से हमने नीचे भारत की आबादी से संबंधित कुछ सवाल व उसके जवाब दिए हैं, आप उसे अवश्य पढ़िए :

1. भारत में हिंदू कितना परसेंट है?

साल 2011 में हुई जनगणना के अनुसार भारत में 79.8 प्रतिशत या परसेंट हिन्दू धर्म के मानने वाले लोग रहते हैं।

2. भारत की जनगणना कितने साल में होती है?

भारत की जनगणना 10 साल में एक बार होती है।

3. भारत की जनसंख्या 2021 में कितनी है?

साल 2021 में भारत की कुल जनसंख्या 1 अरब 39 करोड़ से अधिक है।

4. 1921 में भारत की जनसंख्या कितनी थी?

साल 1921 में भारत की कुल जनसंख्या 25 करोड़ 13 लाख 21 हजार 213 थी।

5. भारत में जनसंख्या वृद्धि का मुख्य कारण क्या है?

भारत की बढ़ रही जनसंख्या का मुख्य कारण शिक्षा तथा जागरूकता है। जब जनसंख्या को लेकर अधिक से अधिक लोग जागरूक होंगे, फिर देश की आबादी में कमी आएगी।

इस लेख को यहां तक पढ़ने के बाद आपको यह अच्छी तरह से मालूम चल गया होगा कि साल 2021 में भारत की जनसंख्या कितनी है? हमने इस आर्टिकल में इंडिया की आबादी के साथ-साथ यह भी बताया है कि यहां पर किस धर्म के मानने वाले लोग कितने प्रतिशत है तो उम्मीद करता हूं कि आपको यह लेख Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी।

इसे भी पढ़िए :-

प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट में अपना नाम कैसे देखें?

पाकिस्तान की जनसंख्या कितनी है?

भारत में कुल कितने जिले हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *